Big News for Bihar's Teachers : बिहार के नियोजित शिक्षकों को मिलेगी मनचाही पोस्टिंग

  • नियोजित शिक्षकों के ऐच्छिक तबादले का फॉर्मूला हो गया है तैयार, जल्द होगा लागू


कक्षा में विद्यार्थियों के बीच शिक्षक। सौजन्य से सोशल मीडिया।

प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, पटना


बिहार के नियोजित शिक्षकों की लंबे समय से चली जा रही मांग जल्द ही पूरी होने की उम्मीद है। अब नियोजित शिक्षकों को भी मनचाही पोस्टिंग मिलेगी। नियोजित शिक्षकों के ऐच्छिक तबादले का फॉर्मूला तैयार हो गया है। इस फॉर्मूले के लागू होने के बाद वर्ष 2006 से चली आ रही उनकी मनचाही जगह पर पदस्थापित होने की आस कुछ महीनें में ही पूरी होने की उम्मीद बढ़ गई है।


नियोजित शिक्षकों के तबादले का प्रारूप तैयार करने के लिए गिरिवर दयाल सिंह की अध्यक्षता में अंतर्विभागीय कमेटी गठित की गई थी। इस कमेटी के सहयोग के लिए गठित उप कमेटी ने तबादले का प्रारूप तैयार करने को लेकर पूरी कवायद पूरी कर ली है। उसका पूरा मसौदा तैयार करके कमेटी ने अपनी अनुशंसा के साथ शिक्षा विभाग को सौंप दिया है।


तबादले के प्रारूप के मसौदे को लेकर अब पंचायती राज विभाग और नगर विकास विभागों से स्वीकृति लेने की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है। अगर सब कुछ ठीक रहा तो दो से तीन हफ्ते में नियोजित शिक्षकों के ऐच्छिक और संवर्गीय तबादले एवं पदस्थापन को लेकर नियमावली (गाइडलाइन) जारी हो जाएगी।


तबादले की पूरी प्रक्रिया होगी ऑनलाइन


तबादले के फाॅर्मूले के अनुसार नियोजित शिक्षकों के ट्रांसफर-पोस्टिंग की पूरी प्रक्रिया नेशनल इंफार्मेशन सेंटर (एनआईसी) पटना की ओर से तैयार सॉफ्टवेयर के माध्यस की जाएगी। इसमें आवेदन से लेकर पदस्थापन तक की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन होगी, ताकि कोई गड़बड़ी न होने पाए। आवेदन स्वीकार करने से पहले जिलों से रिक्तियां भी मांगी जाएंगी।


स्थानांतरण में महिला व दिव्यांगों को प्राथमिकता


नियोजित शिक्षकों के तबादले की प्रक्रिया में महिला एवं दिव्यांग शिक्षकों को प्राथमिकता दी जाएगी। पुरुष शिक्षकों को आपसी सहमति (म्युजुअल) से तबादले का भी मौका मिलेगा।


डेढ़ से पौने दो लाख शिक्षक होंगे लाभान्वित


प्रदेश में साढ़े तीन लाख नियोजित शिक्षक हैं, उनमें से डेढ़ से पौने दो लाख शिक्षकों को मनचाही पोस्टिंग का लाभान्वित होने की उम्मीद है। महिला एवं दिव्यांग शिक्षकों को दो से तीन जगह का विकल्प भी दिया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments