Cabinet ministers and MPs reached the house of Vandana Mishra of IIA who lost her life in the jam : जाम में जान गंवाने वाली आइआइए की वंदना मिश्रा के घर पहुंचे कैबिनेट मंत्री व सांसद

  • तीनों जनप्रतिनिधयों ने दिवंगत वंदना मिश्रा के पति शरद मिश्र से घटना के लिए क्षमा माँगी



प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, कानपुर


इंडियन इंड्रस्ट्रीज एसोसिएशन (आईआईए) की महिला विंग की अध्यक्ष स्व. वंदना मिश्रा के परिजनों को सांत्वना देने के ब्लॉक किदवई नगर स्थित घर रविवार को औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना, सांसद सत्यदेव पचौरी एवं विधायक सुरेंद्र मैथानी पहुंचे। तीनों जनप्रतिनिधयों ने दिवंगत वंदना मिश्रा के पति शरद मिश्र से घटना के लिए क्षमा माँगी। शरद ने गोविन्द नगर पुल की जाम की घटना के बारे में विस्तार से बताया। वहीं ज्ञानेश मिश्र ने पारिवारिक मित्रों ने घनश्याम दास स्कूल चौराहा से कर्नल हुसैन स्कूल तक की सड़क को वंदना मिश्रा मार्ग करने की मांग की। वन्दना के पति से महामहिम राष्ट्रपति से फोन पर बात कराकर उनके ज़ख्मो में मरहम लगाने का भी आश्वासन दिया।


उनके पति शरद मिश्र ने बताया कि जब अस्पताल पहुंचे तो डॉक्टरों ने कहा कि अगर 15 से 20 मिनट पहले आ जाते तो वंदना की जान बच सकती थी। उन्होंने बताया कि वंदना ने बुकनू बनाने का कार्य 15 वर्ष पहले शुरू किया था। उसके बाद सब्ज़ी मसाला भी बनाने लगी थीं। उन्होंने उद्योग को बढ़ाकर अपना स्थान बनाया था। उनकी कमी हमेशा खलेगी। इसी तरह औद्योगिक संघटनों में भी आगे बढ़ती रहीं। शरद मिश्र के साथ उनके भाई सचिन मिश्र दोनों पुत्र वरद व उत्सव भी थे।


पारिवारिक मित्र अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश महामंत्री ज्ञानेश मिश्र व पड़ोसियों में विजय गुप्ता, विनायक पोद्दार व प्रखर श्रीवास्तव ने घनश्याम दास स्कूल चौराहा से कर्नल हुसैन स्कूल तक की सड़क को वंदना मिश्रा मार्ग करने की मांग की। वन्दना मिश्रा के पति शरद मिश्र से राष्ट्रपति से फोन पर बात कराकर उनके ज़ख्मो में मरहम लगाने की मांग की।


सांसद सत्यदेव पचौरी व कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने मार्ग का नाम रखने व राष्ट्रपति से बात करवाने का आश्वासन दिया। इस दौरान दिवंगत वंदना मिश्र के घर पर डीसीपी साउथ रवीना त्यागी, क्षेत्रीय पार्षद प्रमोद जायसवाल, ज्ञानू अवस्थी एवं दीपक सिंह मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments