Accident : आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर हादसे में राजस्व निरीक्षक की मौत, छह लेखपाल घायल

  • आगरा से लखनऊ चुनाव सामग्री लेने जा रहे थे राजस्व कर्मी
  • आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर किमी 153 पर हुआ हादसा


प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, कन्नौज



मौत का कोई न कोई बहाना होता है। पंचायत चुनाव की तैयारी के सिलसिले में आगरा से लखनऊ चुनाव सामग्री लेने जा रहे राजस्व निरीक्षक की सड़क हादसे में मौत हो गई। छह लेखपाल घायल हो गए। हादसा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर टायर फटने से हुआ, जिससे कार अनियंत्रित होकर बस से जा टकराई। घायलों को कन्नौज के तिर्वा स्थित राजकीय मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।


जिला निर्वाचन अधिकारी के निर्देश पर शनिवार को पंचायत एवं नगरीय निकाय आगरा के पत्र पर आगरा के निकुंज फेस निवासी एसीओ चकबंदी कन्हैयालाल पुत्र रामभरोसे लाल के साथ चकबंदी कानूनगो अनिल कुमार पुत्र रामकिशोर निवासी बीएन पुरम बंसी विहार के पास पश्चिमी पुरी सिकंदरा आगरा, लेखपाल धीरेंद्र कुमार पुत्र पातीराम निवासी आवास विकास आगरा, लेखपाल अरुण कुमार पुत्र सुखलाल निवासी सुभाष नगर अलबतिया शाहगंज आगरा एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी रमाशंकर पुत्र रामजी लाल ब्रह्म नगर ताजगंज आगरा ड्राइवर यश विक्रम पुत्र रविंद्र जौहरी जयपुर हाउस आगरा एवं अन्य दिनेश सोलंकी पुत्र जयपाल सोलंकी निवासी मिढ़ाकुर थाना मलपुरा आगरा के साथ त्रिस्तरीय सामान्य निर्वाचन में प्रयुक्त होने वाले प्रपत्रों को लेने के लिए लखनऊ के ऐशबाग जा रहे थे। सभी कार से आगरा से लखनऊ के लिए एक्सप्रेस वे से जा रहे थे।


सौरिख थाना क्षेत्र में किलोमीटर 153 टोल प्लाजा के पास कार का टायर फटने से कार अनियंत्रित होकर पीली पट्टी पर खड़ी वॉल्वो बस में जा घुसी। तेज गति में अनियंत्रित होकर पलट गई। कार सवार नीचे दब गए। सूचना पर पहुंचे यूपीडा सुरक्षा अधिकारी मनोहर सिंह, नामवर सिंह, प्रदीप कुमार, शैलेन्द्र चौहान ने नीचे दबे हुए राजस्व कर्मियों को कार को सीधा कर बाहर निकाला।


घायल अनिल कुमार एवं दिनेश सोलंकी को 108 एंबुलेंस से सीएचसी सौरिख भेजा और शेष पांच घायलों को यूपीडा एंबुलेंस से मेडिकल कॉलेज तिर्वा में भर्ती कराया गया। सीएचसी पर अनिल कुमार को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया तथा घटना की सूचना स्वजन को दी गई। सूचना मिलते ही स्वजन घटनास्थल के लिए रवाना हो चुके हैं। वहीं सूचना पर पहुंचे एसडीएम छिबरामऊ देवेश कुमार गुप्ता ने यूपीडा कर्मियों से घटना के संबंध में जानकारी लेते हुए उच्च अधिकारियों को अवगत कराया।


Post a Comment

0 Comments