Breaking News : वाराणसी में बिजली की गलत बिलिंग पर फूटा संतों का गुस्सा

  • अधिक बिजली बिल आने पर आमरण अनशन पर बैठे संत

प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, वाराणसी



बिजली विभाग की कारगुजारियों से धार्मिक नगरी वाराणसी के संतों में नाराजगी है। बिजली विभाग एक तो अनाप-शनाप बिजली भेजता है। ऊपर से परेशान भी करता है, बिना सूचना के मठ और मंदिरों की बिजली कनेक्शन भी काट दिया जाता है। बुधवार को अधिक बिल आने और अनावश्यक रूप से परेशान करने के विरोध में काशी में कई संत पातालपुरी मठ में धरने पर बैठ गए हैं। उनका आरोप है कि बिजली विभाग से गलत बिल भेजकर परेशान किया जा रहा है। शिकायत की सुनवाई नहीं होती है। हद तो यह है कि बिना सूचना के लाइन काट दी गई। इस वजह से मंदिर और मठ में अंधेरे में डूबे रहते हैं और संत समाज को परेशानी का सामाना करना पड़ता है। संतों ने चेताया कि अगर उत्पीड़न बंद नहीं हुआ तो बड़ा आंदोलन करने के लिए मजूबर होंगे।

बिजली विभाग की मनमानी और गलत बिलिंग के खिलाफ संताें ने बिगुेंल फूंक दिया है। हरपुरा स्थित पातालपुरी मठ में श्री वैष्णो समाज के तत्वावधान में संताें ने आमरण अनशन शुरू किया गया है। महंत बालक दास महाराज बिजली बिल में गड़बड़ियों के खिलाफ आमरण अनशन पर बैठ गए हैं। उनके समर्थन में श्री बिहारी मंदिर बड़ा मंदिर के महंत भी उतर आए हैं। उनका कहना है कि जब तक संतों की समस्या का समाधान नहीं हो जाता है। अामरण अनशन समाप्त नहीं होगा। वहीं, संत समाज के मोर्चा खोलने से बिजली विभाग के अधिकारियों से लेकर कर्मचारियों में खलबली मच गई है। वहीं, महंत

बालक दास का कहना है कि बिल में गड़बड़ियों को दूर कराने के लिए कई बार विभाग से शिकायत की गई। उसके बावजूद अधिकारियों ने न कोई सुनवाई की और ही समाधान की दिशा में प्रयास किया।

Post a Comment

0 Comments