Good News : उत्तर प्रदेश के कर्मचारियों को दीपावली से पहले बोनस

  • नगद मिलेगा 25 फीसद और जीपीएफ में जमा होगा 75 फीसद

प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, लखनऊ


राज्य के 15 लाख कर्मचारियों के लिए खुशखबरी है। दिपावली से पहले उन्हें बोनस का भुगतान होगा। दिपावली के पहले राज्य के 15 लाख कर्मचारियों को एक माह के बोनस भुगतान की मंजूरी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दे दी है। पूर्व की भांति इस बार भी बोनस का 25 फीसद हिस्सा नकद और 75 फीसद जीपीएफ में जमा होगा।

बोनस भुगतान से पड़ेगा अतिरिक्त बोझ 

तदर्थ बोनस भुगतान के लिए मासिक परिलब्धियों की अधिकतम सीमा 7,000 रुपये तय की गई है। मार्च-2020 की वास्तविक औसत परिलब्धियां 7000 रुपये मानते हुए 30 दिन का बोनस 6908 रुपये मिलेगा। इसका लाभ 4,800 रुपये ग्रेड पे तक के अराजपत्रित कर्मचारियों को मिलेगा। सरकारी खजाने पर बोनस भुगतान से 1022.75 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।


नकद मिलेंगे सिर्फ 1727 रुपये


बोनस में नकद भुगतान 25 फीसद किया जाएगा, ऐसे में बोनस के 6908 रुपये में से 1727 ही मिलेंगे। दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों के तदर्थ बोनस की अधिकतम सीमा 1200 रुपये है, यानी 30 दिन के लिए उन्हें 1184 रुपये मिलेंगे। जो कर्मचारी भविष्य निधि खाते का सदस्य नहीं है, उसके जीपीएफ में 75 फीसद राशि का एनएससी दिया जाएगा या उसके पीपीएफ एकाउंट में जमा किया जाएगा।


राज्य कर्मचारी चाह रहे नकद भुगतान


राज्य कर्मचारियों का मंहगाई भत्ता 2020-2021 तक स्थगित है। कर्मचारी दिपवली के पहले बोनस का नकद चाह रहे हैं। केंद्र सरकार की घोषणा के बाद राज्य के कर्मचारियों को पूरी उम्मीद थी। सरकार ने महामारी में आर्थिक संसाधनों व प्राथमिकताओं को देखते हुए सामान्य दिनों की तरह 25 फीसद ही नकद देने का फैसला किया है।


इन श्रेणी के कर्मचारियों को लाभ


समूह ‘ग’ व ‘घ’ के समस्त राज्य कर्मचारियों, राजकीय विभागों के कर्मचारियों, सहायता प्राप्त शिक्षण व प्राविधिक शिक्षण संस्थाओं, स्थानीय निकायों, जिला पंचायतों के कर्मचारियों व दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को बोनस का लाभ मिलेगा।

Post a Comment

0 Comments