Breaking News : नाली में चावल फेंकने पर सिपाही, उसकी मां-बहन को कुल्हाड़ी से काटा

  • बगल में रहने वाले ताऊ के परिवार से नाली में चावल फेंकने को लेकर हुआ था झगड़ा
  • दो आरोपितों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, बाकी लोगों की तलाश में दी जा रही है दबिश


प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, बांदा



नाली में चावल फेंकने के विवाद में सिपाही, उसकी मां और बहन की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी गई। हत्या करने वाले बाहरी नहीं, बल्कि सिपाही के अपने ताऊ के लड़के हैं। शुक्रवार रात सवा 11 बजे हुई घटना से क्षेत्र में खलबली मच गई। आइजी के सत्यनारायण और एसपी सिद्धार्थशंकर मीना हकीकत जानने के लिए घटनास्थल गए। कोतवाली पुलिस ने सिपाही के चचेरे भाइयों को गिरफ्तार कर लिया है जबकि दो अन्य आरोपी फरार हैं। पुलिस पारिवारिक संपत्ति विवाद मानकर जांच कर रही है।


शहर कोतवाली के कालूकुआं चौकी क्षेत्र के कपरिया मोहल्ला निवासी सिपाही अभिजीत वर्मा प्रयागराज में तैनात थे। वह बगैर अवकाश लिए शुक्रवार को घर आए थे। बांदा में पुस्तैनी घर में मां रामादेवी और अविवाहित बहन निशा रहती हैं। पिता रामप्रसाद का कई वर्ष पूर्व निधन हो गया था। उनके घर के बगल में ताऊ भगवानदीन का परिवार रहता है।


पुलिस के मुताबिक भगवानदीन के घर से नाली में चावल फेंक दिए गए। इस पर सिपाही अभिजीत ने आपत्ति जताई तो ताऊ के पुत्र शिवपूजन, देवराज, बब्लू व परिवार की एक महिला लाठी-डंडे और कुल्हाड़ी लेकर उस पर हमला कर दिया। सभी ने मिलकर अभिजीत की जमकर पिटाई की। कुल्हाड़ी से भी कई वार किए। इस हमले में सिपाही लहूलुहान होकर गिर पड़ा। उसे बचाने के लिए मां और बहन दौड़ पड़ीं। इस पर हमलावरों ने उन पर भी कुल्हाड़ी से हमला कर दिया, जिससे वह भी बुरी तरह घायल हो गईं। इस हमले में तीनों ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया।



घटना के बाद सभी आरोपी वहां से भाग निकले। सूचना पर आइजी के सत्यनारायण, एसपी सिद्धार्थ शंकर मीना वहां पहुंचे। कोतवाली पुलिस को आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी के आदेश दिए। पुलिस ने शिवपूजन और देवराज को गिरफ्तार कर लिया जबकि अन्य की तलाश में दबिश दे रही है। आइजी ने बताया कि परिवार की संपत्ति का विवाद है। इसकी जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।  

Post a Comment

0 Comments