आज का पंचांग

12 सितम्बर 2020, शनिवार
विक्रम संवत - 2077 
शक संवत - 1942
अयन - दक्षिणायन
ऋतु - शरद
मास - अश्विन 
पक्ष - कृष्ण 
तिथि - दशमी रात्रि 11: 24 तक तत्पश्चात एकादशी
नक्षत्र - आर्द्रा दोपहर 0 1: 0 0 तक तत्पश्चात पुनर्वसु
योग - व्यतिपात शाम 0 3: 29 तक तत्पश्चात वरीयान्
राहुकाल - सुबह 09: 0 0 से सुबह 10: 30 तक 
सूर्योदय - 0 5: 51 
सूर्यास्त - 18: 0 9 

दिशाशूल - पूर्व दिशा में

व्रत पर्व विवरण - दशमी का श्राद्ध

विशेष - ब्रह्म पुराण के 118वें अध्याय में शनिदेव कहते हैं- 'मेरे दिन अर्थात् शनिवार को जो मनुष्य नियमित रूप से पीपल के वृक्ष का स्पर्श करेंगे, उनके सब कार्य सिद्ध होंगे तथा मुझसे उनको कोई पीड़ा नहीं होगी। जो शनिवार को प्रातःकाल उठकर पीपल के वृक्ष का स्पर्श करेंगे, उन्हें ग्रहजन्य पीड़ा नहीं होगी।' (ब्रह्म पुराण')
शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष का दोनों हाथों से स्पर्श करते हुए 'ॐ नमः शिवाय।' का 108 बार जप करने से दुःख, कठिनाई एवं ग्रहदोषों का प्रभाव शांत हो जाता है। (ब्रह्म पुराण')
हर शनिवार को पीपल की जड़ में जल चढ़ाने और दीपक जलाने से अनेक प्रकार के कष्टों का निवारण होता है।(पद्म पुराण)

नौकरी - व्यवसाय में सफलता, आर्थिक समृद्धि एवं कर्ज मुक्ति हेतु कारगर प्रयोग शनिवार के दिन पीपल में दूध, गुड, पानी मिलाकर चढायें एवं प्रार्थना करें - 'हे प्रभु ! आपने गीता में कहा है कि वृक्षों में पीपल मैं  हूँ। हे भगवान ! मेरे जीवन में यह परेशानी है। आप कृपा करके मेरी यह परेशानी (परेशानी, दुःख का नाम लेकर ) दूर करने की कृपा करें। पीपल का स्पर्श करें व प्रदक्षिणा करें।
              

एकादशी व्रत के लाभ

12 सितम्बर 2020को शनि वार  रात्रि  11: 24 से 13 सितम्बर, रविवार को रात्रि 10: 57 तक एकादशी है।
13 सितम्बर, रविवार को एकादशी का व्रत (उपवास) रखें।
एकादशी व्रत के पुण्य के समान और कोई पुण्य नहीं है।
जो पुण्य सूर्यग्रहण में दान से होता है, उससे कई गुना अधिक पुण्य एकादशी के व्रत से होता है।
जो पुण्य गौ-दान सुवर्ण-दान, अश्वमेघ यज्ञ से होता है, उससे अधिक पुण्य एकादशी के व्रत से होता है।
एकादशी करनेवालों के पितर नीच योनि से मुक्त होते हैं और अपने परिवारवालों पर प्रसन्नता बरसाते हैं। इसलिए यह व्रत करने वालों के घर में सुख-शांति बनी रहती है।
धन-धान्य, पुत्रादि की वृद्धि होती है।
कीर्ति बढ़ती है, श्रद्धा-भक्ति बढ़ती है, जिससे जीवन रसमय बनता है।
परमात्मा की प्रसन्नता प्राप्त होती है। पूर्वकाल में राजा नहुष, अंबरीष, राजा गाधी आदि जिन्होंने भी एकादशी का व्रत किया, उन्हें इस पृथ्वी का समस्त ऐश्वर्य प्राप्त हुआ। भगवान शिवजी ने नारद से कहा है : एकादशी का व्रत करने से मनुष्य के सात जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं, इसमे कोई संदेह नहीं है। एकादशी के दिन किये हुए व्रत, गौ-दान आदि का अनंत गुना पुण्य होता है।
         

एकादशी के दिन करने योग्य

एकादशी को दिया जला के विष्णु सहस्त्र नाम पढ़ें .......विष्णु सहस्त्र नाम नहीं हो तो 10 माला गुरुमंत्र का जप कर लेंl अगर घर में झगडे होते हों, तो झगड़े शांत हों जायें ऐसा संकल्प करके विष्णु सहस्त्र नाम पढ़ें तो घर के झगड़े भी शांत होंगेl
          
एकादशी के दिन ये सावधानी रहे

महीने में 15-15 दिन में एकादशी आती है एकादशी का व्रत पाप और रोगों को स्वाहा कर देता है लेकिन वृद्ध, बालक और बीमार व्यक्ति एकादशी न रख सके तभी भी उनको चावल का तो त्याग करना चाहिए एकादशी के जो दिन चावल खाता है... तो धार्मिक ग्रन्थ से एक- एक चावल एक- एक कीड़ा खाने का पाप लगता है..

दशमी श्राद्ध 12 सितंबर शनिवार
एकादशी श्राद्ध 13 सितंबर रविवार
द्वादशी श्राद्ध 14 सितंबर सोमवार
त्रयोदशी श्राद्ध 15 सितंबर मंगलवार
चतुर्दशी श्राद्ध 16 सितंबर बुधवार
अमावस्या तिथि का श्राद्ध 17 सितंबर गुरुवार
सर्वपितृश्राद्ध एवं पितृ विसर्जन एवं श्राद्ध समाप्त

पितृपक्ष के दौरान पितरों की सद्गति के लिए पिण्डदान और तर्पण के लिए काले तिल और कुश का उपयोग किया जाता है। तिल और कुश दोनों ही भगवान विष्णु के शरीर से निकले हैं और पितरों को भी भगवान विष्णु का ही स्वरूप माना गया है। उन्होने गरुण पुराण का हवाला देते हुए बताया कि तिल तीन प्रकार के श्वेत, भूरा व काला जो क्रमश: देवता, मनुष्य व पितरों को तृप्त करने वाला होता है।
काला तिल भगवान विष्णु का प्रिय है और यह देव अन्न है इसलिए पितरों कोभी तिल प्रिय है इसलिए काले तिल से ही श्राद्धकर्म करने का विधान है। मान्यता है कि बिना तिल बिखेरे श्राद्ध किया जाए, तो दुष्ट आत्माएं ग्रहण कर लेती हैं। गरूण पुराण के अनुसार ब्रह्मा, विष्णु, महेश कुश में क्रमश: जड़, मध्य और अग्रभाग में रहते हैं। कुश का अग्रभाभ देवताओं का, मध्य मनुष्यों का और जड़ पितरों का माना जाता है। वहीं तिल पितरों को प्रिय और दुष्टात्माओं को दूर भगाने वाले माने जाते हैं। माना जाता है तिल का दान कई सेर सोने के दान के बराबर होता है। इनके बिना पितरों को जल भी नहीं मिलता।

पंचक

28 सितंबर 09:41 सुबह से 3 अक्तूबर 08:51 सुबह तक

एकादशी

इन्दिरा एकादशी - 13 सितंबर 2020

पद्मिनी एकादशी - 27 सितंबर 2020

परम एकादशी - 13 अक्टूबर 2020

पापांकुशा एकादशी - 27 अक्टूबर 2020

प्रदोष

15 सितंबर (मंगलवार) भौम प्रदोष व्रत (कृष्ण)

29 सितंबर (मंगलवार) भौम प्रदोष व्रत (शुक्ल)

14 अक्‍टूबर (बुधवार) प्रदोष व्रत (कृष्ण)

28 अक्‍टूबर (बुधवार) प्रदोष व्रत (शुक्ल)

अमावस्या 

गुरुवार, 17 सितंबर अश्विन अमावस्या
शुक्रवार, 16 अक्टूबर आश्विन अमावस्या (अधिक)

पूर्णिमा
गुरुवार, 01 अक्टूबर आश्विन पूर्णिमा व्रत (अधिक)
शनिवार, 31 अक्टूबर अश्विन पूर्णिमा व्रत


आज का दिन

मेष 
मध्यम फलदायक रहेगा। आपका हौसला बढ़ेगा लेकिन गले में दर्द या बाजू में दर्द की समस्या हो सकती है। सेहत का ध्यान रखें। गुस्से से बचें। काम के सिलसिले में दिनमान बढ़िया रहेगा। शादीशुदा लोगों के गृहस्थ जीवन में थोड़ा तनाव दिखेगा लेकिन जीवन साथी आपका साथ देगा। प्रेम जीवन बिता रहे लोगों को प्रिय के बर्ताव से थोड़ी निराशा होगी।

वृष 
मध्यम फलदायक रहेगा। पारिवारिक झगड़ों को सुलझाने की कोशिश करेंगे। एक दूसरे से नाराजगी को दूर करने में सफल होंगे, फिर भी परिवार में तनाव रहेगा। सेहत के मामले में दिनमान अच्छा रहेगा। स्वास्थ्य बढ़िया होने से कामों में सफलता मिलेगी। शादीशुदा लोगों के गृहस्थ जीवन में तनाव में थोड़ी कमी आएगी। खर्चों में बढ़ोतरी होगी। प्रेम जीवन बिता रहे लोगों के लिए आज का दिनमान अच्छा रहेगा। अपने प्रिय से घंटों बातें करके खुद को खुश रखेंगे।

मिथुन 

दिन आपके लिए अच्छा रहने वाला है। मन में नई उमंगे जागेंगी और कुछ नया करने का प्लान फाइनल करेंगे। सेहत ठीक ठाक रहेगी। काम के सिलसिले में दिनमान मजबूत है। इनकम भी बढ़िया रहेगी। गवर्नमेंट से कोई बेनिफिट मिल सकता है। शादीशुदा लोगों के गृहस्थ जीवन में समझदारी रहेगी और एक दूसरे के लिए प्रेम की भावना रहेगी। प्रेम जीवन बिता रहे लोगों के रिश्ते में थोड़ा तनाव बढ़ेगा।

कर्क 

आज का दिन सामान्य रूप से फलदायक रहेगा। बेतरतीब खर्चों से परेशान होंगे, इसलिए अपने धन का सदुपयोग करने के बारे में सोचेंगे। काम के सिलसिले में दिनमान मजबूत होगा। शादीशुदा लोगों के गृहस्थ जीवन में प्रेम और रोमांस रहेगा। रिश्ते में ईमानदारी रखेंगे। प्रेम जीवन बिता रहे लोगों के लिए दिनमान अच्छा रहेगा। आपको अपने प्रिय से मिलने और खुलकर बात करने का मौका मिलेगा।

सिंह

आज का दिन बढ़िया रहेगा। इनकम में जबरदस्त बढ़ोतरी होगी, जो आप के हौसले को बढ़ाएगी। प्रेम जीवन बिता रहे लोगों के लिए दिनमान बहुत बढ़िया रहेगा। अपनी समझदारी और क्रिएटिविटी से अपने प्रिय का दिल जीतेंगे। उनके लिए बढ़िया गिफ्ट ला सकते हैं। विरोधियों पर भारी पड़ेंगे। हल्के खर्चे रहेंगे। शादीशुदा लोगों का गृहस्थ तनाव से बाहर निकलेगा। काम के सिलसिले में दिनमान अच्छा रहेगा। भाग्य का सहारा मिलेगा।

कन्या 

आज का दिन आपके लिए बढ़िया रहेगा। अपने परिवार और काम के बीच तालमेल बिठाने में कामयाब रहेंगे। जमीन जायदाद से जुड़े मामलों के लिए दिन थोड़ा कमजोर है। हल्के खर्चे रहेंगे। शादीशुदा लोगों का गृहस्थ जीवन बहुत बढ़िया तरीके से आगे बढ़ेगा। अगर आपके बीच कोई समस्या थी तो आज वह दूर हो जाएगी क्योंकि आपकी बातचीत से मामला हल होगा। प्रेम जीवन बिता रहे लोगों को रोमांस के साथ दिन बिताने का मौका मिलेगा।

तुला 

आपके लिए आज का दिन अच्छा रहेगा। विदेश जाने से संबंधित कोई बड़ी अच्छी खबर मिल सकती है। काम के सिलसिले में अपने काम से काम रखना जरूरी होगा नहीं तो दिक्कतें बढ़ सकती हैं। शादीशुदा लोगों के गृहस्थ जीवन में तनाव की रेखाएं देखने को मिलेंगी। सावधानी रखकर मामले को सुलझाने की कोशिश करें। प्रेम जीवन बिता रहे लोगों के लिए दिनमान मध्यम रहेगा। किसी बात को लेकर गलतफहमी बढ़ सकती है।

वृश्चिक 

आज का दिन आपके लिए सामान्य फलदायक रहेगा। आज किसी अनजाने डर से परेशान रहेंगे या मन में किसी बात को लेकर बेचैनी रहेगी। आर्थिक चुनौतियां सामने आएंगी। बेवजह के खर्चे आ सकते हैं, सावधानी रखें। काम के सिलसिले में दिनमान बहुत मजबूत रहेगा। आप अपने काम पर पकड़ बना कर रखेंगे। शादीशुदा लोगों के गृहस्थ जीवन के लिए दिनमान अच्छा है। जीवन साथी के साथ कहीं बाहर खाने जा सकते हैं। प्रेम जीवन बिता रहे लोगों के लिए दिनमान बढ़िया है। आज घंटों बातों में समय लगाएंगे जिससे रिश्ता बढ़िया होगा।

धनु 

आज का दिन आपके लिए सामान्य फलदायक रहेगा। शादीशुदा लोगों के गृहस्थ जीवन में तनाव कम होगा। आप अपनी जिम्मेदारियां समझेंगे और अगर आप से कोई गलती हुई है तो उसे स्वीकार करने में पीछे नहीं हटेंगे। इससे रिश्ते में पड़ी गलतफहमी की धूल झड़ जाएगी। प्रेम जीवन बिता रहे लोग अपने प्रिय के बर्ताव से थोड़े निराश हो सकते हैं। आपकी सेहत अच्छी रहेगी। कामों में सफलता मिलेगी जिससे दिन अच्छा जाएगा।

मकर 

आपके लिए मध्यम फलदायक रहेगा। खर्चों में होती हुई यकायक बढ़ोतरी आपको परेशान कर सकती है। सेहत को लेकर लापरवाही ना बरतें। जमीन जायदाद से जुड़े मामलों में सफलता मिलेगी। काम के सिलसिले में अच्छे नतीजे मिलेंगे। आप की प्रोन्नति होने के योग बन सकते हैं। गवर्नमेंट से कोई नोटिस आ सकता है। प्रेम जीवन बिता रहे लोगों के लिए दिनमान बढ़िया रहेगा। अपनी शादी के बारे में सोचेंगे। शादीशुदा लोगों का गृहस्थ जीवन रोमांस से भरा रहेगा।

कुंभ 

आपका दिन अच्छा रहेगा। प्रेम जीवन बिता रहे लोगों को निराशा से बाहर निकलने में सफलता मिलेगी। अपने मन के वहम को दूर करने में प्रिय का सहयोग रहेगा। शादीशुदा लोगों का गृहस्थ जीवन अच्छा रहेगा लेकिन जीवन साथी कुछ ऐसी बातें जरूर कह सकता है जो आपको अच्छी ना लगें। हल्के खर्चे होंगे। इनकम ठीक-ठाक रहेगी। काम के सिलसिले में दिनमान मजबूत रहेगा। सेहत का ध्यान रखें।

मीन 

आपका दिन बढ़िया रहेगा। अपने काम और अपने परिवार के बीच तालमेल बनाकर रखेंगे। परिवार में किसी बुजुर्ग की बिगड़ती सेहत चिंता का कारण बन सकती है। संपत्ति का लाभ होगा। इनकम बढ़िया होगी। प्रेम जीवन में रोमांस रहेगा। एक दूसरे के साथ दिल की बात कह कर खुद को हल्का महसूस करेंगे। शादीशुदा लोगों का गृहस्थ जीवन भी बहुत खुशनुमा रहेगा। काम के सिलसिले में दिन अच्छा है

जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं

अंक ज्योतिष के अनुसार आपका मूलांक तीन आता है। यह बृहस्पति का प्रतिनिधि अंक है। ऐसे व्यक्ति निष्कपट, दयालु एवं उच्च तार्किक क्षमता वाले होते हैं। अनुशासनप्रिय होने के कारण कभी-कभी आप तानाशाह भी बन जाते हैं। आप दार्शनिक स्वभाव के होने के बावजूद एक विशेष प्रकार की स्फूर्ति रखते हैं।

आपकी शिक्षा के क्षेत्र में पकड़ मजबूत होगी। आप एक सामाजिक प्राणी हैं। आप सदैव परिपूर्णता या कहें कि परफेक्शन की तलाश में रहते हैं यही वजह है कि अकसर अव्यवस्थाओं के कारण तनाव में रहते हैं। 
शुभ दिनांक : 3, 12, 21, 30
शुभ अंक : 1, 3, 6, 7, 9
शुभ वर्ष :  2028, 2030, 2031, 2034, 2043, 2049, 2052
ईष्टदेव : देवी सरस्वती, देवगुरु बृहस्पति, भगवान विष्णु 
 
शुभ रंग : पीला, सुनहरा और गुलाबी 
 
कैसा रहेगा यह वर्ष

यह वर्ष आपके लिए अत्यंत सुखद है। किसी विशेष परीक्षा में सफलता मिल सकती है। नौकरीपेशा के लिए प्रतिभा के बल पर उत्तम सफलता का है। नवीन व्यापार की योजना भी बन सकती है। दांपत्य जीवन में सुखद स्थिति रहेगी। घर या परिवार में शुभ कार्य होंगे। मित्र वर्ग का सहयोग सुखद रहेगा। शत्रु वर्ग प्रभावहीन होंगे। महत्वपूर्ण कार्य से यात्रा के योग भी है।

Post a Comment

0 Comments