बागपत : सत्यपाल मलिक बने मेघालय के राज्यपाल

  • राज्यपाल बनाए जाने की सूचना से पैतृक गांव हिसावदा में जश्न का माहौल

प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, बागपत

जिले के हिसावदा गांव निवासी सत्यपाल सिंह मलिक को मेघालय का राज्यपाल बनाया गया है। उन्हें राज्यपाल बनाए जाने से गांव में जश्न का माहौल है। सत्यपाल सिंह मलिक का जन्म 24 जुलाई 1946 को किसान परिवार में हुआ था। उन्होंने मेरठ से एलएलबी की पढ़ाई की थी। पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के साथ रहते हुए सत्यपाल सिंह ने राजनीति का ककहरा सीखा था। आज वह भारतीय राजनीति के माहिर खिलाड़ी हैं। वह वर्ष 1974 में विधानसभा सदस्य बने। नौवीं लोकसभा में वर्ष 1989 में अलीगढ़ से जनता दल के टिकट पर चुनाव जीत कर सांसद में पहुंचे। वर्ष 1980 से 1989 तक राज्यसभा के सदस्य रहे। सत्यपाल सिंह को नवंबर 2019 में गोवा का राज्यपाल बनाया गया। इससे पहले वह अगस्त 2018 से अक्टूबर 2019 तक जम्मू कश्मीर के राज्यपाल रहे। इनके कार्यकाल के दौरान ही जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया गया। सत्यपाल मलिक सितंबर 2017 में बिहार के राज्यपाल भी रहे। बिहार के राज्यपाल रहते हुए वह अपने पैतृक गांव हिसावदा आए थे, जहां उनका ग्रामीणों ने भव्य स्वागत किया था। गांव के अनु मलिक ने बताया कि सत्यपाल सिंह मलिक को मेघालय का राज्यपाल बनाए जाने से हमारे लिए गर्व की बात है। इसलिए गांव में खबर आने के बाद जश्न मनाया जा रहा है।

Post a Comment

0 Comments