Spritual:विघ्नहर्ता गणेश जी की पूजा

प्रारब्ध अध्यात्म डेस्क- लखनऊ


प्रथम पूज्य गणेश जी की अर्चना सबसे पहले की जाती है।देवता भी अपने कार्यों को बिना किसी विघ्न के पूर्ण करने के लिए गणेश भगवान की पूजा करते हैं।स्वयं भोलेनाथ ने उनको अग्रपूजा का आशीर्वाद दिया था।


शास्त्रों में यह जिक्र आता है कि एक बार भगवान शिव, त्रिपुरासुर का वध करने में असफल हुए, तब उन्होंने गंभीरतापूर्वक विचार किया कि उनके कार्य में विघ्न क्यों पड़ा?


तब महादेव को ज्ञात हुआ कि वह गणेश जी की अर्चना किए बगैर त्रिपुरासुर से युद्ध करने चले गए थे। इसके बाद शिव जी ने गणेश जी का पूजन करके उन्हें लड्डुओं का भोग लगाया और दोबारा  त्रिपुरासुर पर प्रहार किया तब उनका मनोरथ पूर्ण हुआ।


सनातन एवं हिंदू शास्त्रों में भगवान गणेश जी को विघ्नहर्ता अर्थात सभी तरह के कष्ट को हरण करने वाला बताया गया है। पुराणों में गणेश जी की भक्ति, शनि सहित सारे ग्रह दोष दूर करने वाली बताई गई है। हर बुधवार के शुभ दिन गणेश जी की उपासना से व्यक्ति का सुख सौभाग्य बढ़ता है और सभी तरह की रुकावटें दूर होती है।


गणेश भगवान की पूजा विधि


प्रातः काल स्नान ध्यान आदि से शुद्ध होकर सर्वप्रथम ताम्रपत्र के श्री गणेश यंत्र को साफ मिट्टी, नमक, नींबू से अच्छे से साफ किया जाए। पूजा स्थल पर पूर्व या उत्तर दिशा की ओर मुख करके आसन पर विराजमान होकर सामने श्री गणेश यंत्र की स्थापना करें।


शुद्ध आसन पर बैठ के सभी पूजन सामग्री को एकत्रित कर पुष्प, धूप, दीप, कपूर, रोली, मौली, लाल चंदन, मोदक आदि गणेश भगवान को समर्पित कर इनकी आरती करें। अंत में भगवान गणेश जी का स्मरण कर " ऊँ गं गणपतये नमः" का 108 नाम मंत्र का क्या करना चाहिए।


बुधवार के दिन यह छोटे-छोटे उपाय करने से व्यक्ति को लाभ प्राप्त होता है-


- बुधवार के दिन घर में सफेद रंग के गणपति की स्थापना करने से समस्त प्रकार की तंत्र शक्ति का नाश होता है।

-धन प्राप्ति के लिए बुधवार के दिन गणेश भगवान को घी- गुड़ का भोग लगाएं। थोड़ी देर बाद घी-गुड़  गाय को खिला दें। यह उपाय करने से धन संबंधी समस्या का निदान होता है।


- परिवार में कलह क्लेश को बुधवार के दिन दुर्गा के गणेश जी के प्रतीकात्मक मूर्ति बनवाएं। इसे अपने घर के देवालय में स्थापित करें और प्रतिदिन इसकी विधि विधान से पूजा करें।


-घर के मुख्य दरवाजे पर गणेश जी की प्रतिमा लगाने से घर में सुख समृद्धि बनी रहती है। कोई भी नकारात्मक शक्ति घर में प्रवेश नहीं कर पाती है।

Post a Comment

0 Comments