Prarabdh Dharm-Aadhyatm : आज का पंचांग (05 दिसंबर 2021)

05 दिसंबर, दिन : रविवार


विक्रम संवत : 2078 (गुजरात - 2077)


शक संवत : 1943


अयन : दक्षिणायन


ऋतु : हेमंत


मास : मार्ग शीर्ष मास (गुजरात एवं महाराष्ट्र के अनुसार  कार्तिक)


पक्ष :  कृष्ण 


तिथि - प्रतिपदा सुबह 09:27 तक तत्पश्चात द्वितीया


नक्षत्र - ज्येष्ठा सुबह 07:47 तक तत्पश्चात मूल


योग - शूल रात्रि 12:07 तक तत्पश्चात गण्ड


राहुकाल - शाम 04:35 से शाम 05:57 तक


सूर्योदय - 07:03

 

सूर्यास्त - 17:55


दिशाशूल - पश्चिम दिशा में


पंचक


09 दिसंबर 2021 से 14 दिसंबर 2021 तक।


व्रत और त्योहार


एकादशी 


14 दिसंबर : मोक्षदा एकादशी


30 दिसंबर : सफला एकादशी


प्रदोष 


31 दिसंबर : प्रदोष व्रत


पूर्णिमा


18 दिसंबर : मार्गशीर्ष पूर्णिमा


अमावस्या


04 दिसम्बर : मार्गशीर्ष अमावस्या


व्रत पर्व विवरण - चन्द्र-दर्शन, द्वितीया क्षय तिथि


विशेष - प्रतिपदा को कूष्माण्ड(कुम्हड़ा, पेठा) न खाये, क्योंकि यह धन का नाश करने वाला है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

        

पितृदोष हो तो


जो लोग पितृदोष से पीड़ित हैं उनके लिए लिंग पुराण में बताया है  कि मार्गशीर्ष मास शुक्ल द्वितीया ( जो 05 दिसम्बर 2021 रविवार को सुबह 09:28 से 06 दिसम्बर, सोमवार को प्रातः 05:50 तक द्वितीया है) (यानी यह उपाय 05 दिसम्बर, रविवार को करें ) पितृ पूजन का विधान है ।पितृ के लिए गीता का ७ वां अध्याय पढ़ें। लोटा में जल भरके रखें ,पाठ हो जाए तो सूर्य नारायण को वह जल चढा दें और बोलें -- हमारे घर में जो कोई पहले गुजर गए हैं उनके लिए हम आज का गीता पाठ का पुण्य अर्पण करते हैं , उनकी सद्गति  हो,दिव्य गति हो ,और हमारे घर में सुख शांति बढ़े ।

Post a Comment

0 Comments