In Lucknow, Governor Anandiben inaugurated the NRI poetry collection Naya Basera and Unknown Chitwan : लखनऊ में राज्यपाल आनंदीबेन ने किया प्रवासी काव्य-संग्रह नया बसेरा तथा अज्ञात चितवन का लोकार्पण

लखनऊ स्थित राजभवन में आयोजित कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल रहीं शामिल



प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, लखनऊ


उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने प्रवासी रचनाकारों के काव्य-संग्रह नया बसेरा तथा कानपुर के संयुक्त आयुक्त जीएसटी के कवि पीयूष शुक्ल के मौलिक काव्य-संग्रह अज्ञात चितवन का लोकार्पण राजभवन, लखनऊ में किया। हिंदी अकादमी, मुंबई के अध्यक्ष डॉ. प्रमोद पांडेय द्वारा संपादित नया बसेरा काव्य-संग्रह में कुल 20 प्रवासी रचनाकारों की रचनाएँ शामिल हैं। इस काव्य-संग्रह की भूमिका भारत के प्रधान कौसुल, बर्मिंघम- ब्रिटेन डॉ. शशांक विक्रम ने लिखी है। यह काव्य-संग्रह अत्यंत महत्वपूर्ण है, क्योंकि पहली बार 20 प्रवासी रचनाकारों का संग्रह एक साथ प्रकाशित हुआ है।


किताब महल' द्वारा प्रकाशित जीएसटी कानपुर के संयुक्त आयुक्त पीयूष शुक्ल के मौलिक काव्य-संग्रह अज्ञात चितवन का लोकार्पण भी राज्यपाल के कर-कमलों द्वारा संपन्न हुआ। इस काव्य-संग्रह में अन्वेषण, अभिव्यंजन, अनुमोदन, अवखण्डन, अवक्षेपण और अवतर्पण नामक कुल छह अध्याय हैं। इसकी भूमिका पूर्व राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने लिखी है। 



उत्तर प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने दोनों पुस्तकों के लोकार्पण के पश्चात कवि पीयूष शुक्ल तथा संपादक डॉ. प्रमोद पांडेय के इस कार्य की सराहना करते हुए अपनी शुभकामनाएं प्रदान की। 

इस अवसर पर लखनऊ के सीमा शुल्क विभाग के मुख्य आयुक्त अजय दीक्षित, जीएसटी कानपुर के संयुक्त आयुक्त पीयूष शुक्ल, मुंबई के हिंदी अकादमी व संपादक डॉ. प्रमोद पाण्डेय, मुंबई हिंदी अकादमी के उपाध्यक्ष आलोक चौबे तथा जितेंद्र तिवारी उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments