Kanpur News : जीटी रोड पर मंधना में अतिक्रमण में मिली पुरानी तिजोरी, खुली रही गईं आंखें

  • मंधना जीटी रोड पर चलाया जा रहा था अभियान
  • पुरानी तिजोरी देखने को उमडी हजारों की भीड़



प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, कानपुर 

जीटी रोड को चौड़ा करने के लिए चल रहे अभियान ने मंगलवार को सबको चौंका दिया। चौड़ीकरण के इस काम में दुकान के मलबे के नीचे पुराने जमाने की तिजोरी निकल आई। तिजोरी निकलने की जानकारी होने पर हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ जुट गई।

#gt road#atikraman

#kanpur #tijori#suspenc

तिजोरी किसकी है अभी यह स्पष्ट नहीं है, लेकिन कौतुहल का विषय बनी इस तिजोरी को पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों ने सील करवा दिया है। अब इस तिजोरी का राज अधिकारियों से चर्चा के बाद फाश किया जाएगा, तब तक इसे सुरक्षित रखा गया है।

मामला मंगलवार की शाम का है। 


जीटी रोड को जाममुक्त करने के लिए जिला प्रशासन के अधिकारियों की अगुवाई में चलाया जा रहा अतिक्रमण अभियान जब मंधना पहुंचा तो वहां दिनेश त्रिवेदी की परचून की दुकान है। उसी दुकान का मलबा,और अतिक्रमण हटाने के दौरान हो रही खुदाई में एक पुरानी तिजोरी दिखाई पड़ी। तिजोरी मिलने की सूचना पर हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ मौके पर जुट गई।


पुरानी तिजोरी में ताला तो नही लगा है लेकिन ऊपर से बंद है। कुछ ही देर में ग्रामीणों के बीच तिजोरी में खजाना होने की चर्चा शुरू हो गई। इस तिजोरी को एक लोहे की रॉड के नीचे बन्द किया गया था। तिजोरी मंधना के बहलोलपुर निवासी दिनेश त्रिवेदी की परचून की दूकान में अतिक्रमण हटाने में दूकान की फर्श के अंदर करीब तीन फ़ीट अंदर मिली।#gt road#atikraman

#kanpur #tijori#suspenc


तिजोरी के आसपास बढती भीड़ देखकर मंधना चौकी इंचार्ज मो. मतीन खान फ़ोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और तिजोरी को जे सी बी की मदद से पुलिस चौकी में सुरक्षित रखवा दिया। इसके बाद चौकी इंचार्ज ने जिला प्रशासन के उच्चाधिकारियों को सूचना दी सूचना पर एस ओ बिठूर अमित मिश्रा और नायब तहसीलदार ने मौके पर पहुंचकर तिजोरी को चादर में रखाकर सील करवा दिया।


तिजोरी को चौकी परिसर से बिठूर थाने के मालखाने में रखवाया गया तहसीलदार ने बताया कि उच्चाधिकारियों को सूचना दी गई है उन्हीं के निर्देश पर दावा ठोकने वाले लोगो से बात सुनने के बाद तिजोरी को खोला जाएगा। उधर तिजोरी की जानकारी होने पर दुकान मालिक अरुण कुमार मिश्रा चौकी पहुंचे उन्होंने बताया कि मेरे बाबा स्व रामगोपाल मिश्रा से दुकान किराए पर ली थी उन्होंने अपना दावा पेश करते हुआ बताया उन्होंने दिनेश त्रिवेदी को 500सौ रूपये महीने किराए पर कई सालो से दे रखी है। वहीं पुलिस और प्रशासन एक कमेटी गठित कर तिजोरी को लेकर किए जा रहे सभी दावों को सुनने के बाद खोलने की तैयारी में है।

Post a Comment

0 Comments