Tourism : अपने आप में अनोखा है कानपुर के भीतरगांव का सूर्य मंदिर और बेहटा के जगन्नाथ मंदिर

प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, कानपुर



कानपुर के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों का अध्ययन करने और कानपुर में पर्यटन की संभावना को बढ़ावा देने और पर्यटन विकास को गति देने के उद्देश्य से कमिश्नर डॉ. राजशेखर ने भीतरगांव के सूर्य मंदिर और बेहटा बुजुर्ग के जगन्नाथ मन्दिर का निरीक्षण किया। इन मंदिरों की स्थापत्य कला काे मंडलायुक्त निहारते रह गए। उन्होंने दोनों मंदिरों के इतिहास से जुड़ी जानकारी उत्सकु होकर जानने का प्रयास किया।




भीतरगांव के सूर्य मंदिर के बारे में अफसरों ने उन्हें बताया कि यह 5वीं शताब्दी का मंदिर भारत का सबसे पुराना ईंट मंदिर माना जाता है। इस मंदिर का निर्माण गुप्त काल में कराया गया है। इसमें अद्वितीय वास्तुकला और निर्माण डिजाइन को दर्शाया गया है।




मंदिर अपने आप में कई राज़ छिपाए हुए है, जैसे मंदिर का नाम, स्थापित मूर्ति, निर्माण की सही अवधि कार्बन डेटिंग पर आधारित है। प्रत्येक दिन इस स्थान को देखने के लिए 40 के आसपास पर्यटक आते हैं। साल भर में यहां लगभग 10 से 12 हजार पर्यटक पहुंचते हैं, उसमें से ज्यादातर स्थानीय पर्यटक हैं। मन्दिर भारतीय पुरातत्व विभाग (एएसआई) द्वारा संरक्षित है।



बेहटा बुजुर्ग के जगन्नाथ मंदिर में पर्यटकों को आकर्षित करने की संभावना है। साथ ही इस क्षेत्र में पर्यटन बहुत संभावना भी है। 4200 साल पुराना जगन्नाथ मंदिर, एक प्रसिद्ध स्थान होने के साथ अद्भुत स्थान है। यह अद्वितीय दक्षिण भारत मंदिर वास्तुकला का संयोजन है। मंदिर का उत्सुक "बरसाती पथर" भी है जो एक सप्ताह पहले मानसून की शुरुआत की भविष्यवाणी करता है। यह मंदिर उत्तर भारत का इस तरह का एक मात्र अनोखा मंदिर है। इस मंदिर को देखने के लिए महीने में हजारों लोग आते हैं। यह स्थान एएसआई द्वारा संरक्षित है।




मंडलायुक्त ने एएसआई के अधिकारियों से कहा कि पिछले 5 वर्षों में आए पर्यटकों की संख्या पर एक रिपोर्ट बनाकर 30 नवम्बर तक दें। जिसमें स्थानीय, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों की संख्या का अलग-अलग उल्लेख हो।

प्रशासन आने वाले दिनों में अधिकतम पहुंच के लिए कानपुर के वार्षिक पर्यटन कैलेंडर और टूरिज्म एप में इन स्थानों को शामिल करेगा। मंडलायुक्त ने एएसआई के स्थानीय अधिकारियों को इन स्थानों के पर्यटन क्षमता और पर्यटकों के लिए साइट पर आवश्यक अन्य बुनियादी सुविधाओं को बढ़ावा देने के लिए एक महीने में प्रस्ताव तैयार करने के आदेश दिए।


Post a Comment

0 Comments