Big News : कोरोना से स्वस्थ होकर घर लौटे मुलायम सिंह यादव

  • पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर दी जानकारी 

प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, लखनऊ


समाजवादी पार्टी के संस्थापक एवं संरक्षक मुलायम सिंह यादव कोरोना वायरस को मात देकर रविवार को विजयदशमी के दिन नई दिल्ली से लखनऊ लौट आए हैं। रविवार शाम चार्टर्ड प्लेन से लखनऊ पहुंचे मुलायम सिंह यादव का स्वागत समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एयरपोर्ट पर किया। सपा मुखिया एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। उनकी विमान से उतरे हुए फोटो भी साझा की है।


कोरोना विजेता बने, संक्रमण से मुक्ति


सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव कोरोना वायरस को मात देकर विजेता बने हैं। कोरोना के संक्रमण से मुक्ति के बाद शनिवार को गुरुग्राम स्थित मेदांता हॉस्पिटल से डिस्चार्ज किया गया। मेदांता अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद दिल्ली स्थित अपने निवास पर रहे। चिकित्सकों ने उन्हें 15 दिन तक क्वारंटाइन रहने की सलाह दी है। इस पर वह लखनऊ चले अाए।


अखिलेश ने किया स्वागत


मुलायम सिंह यादव का स्वागत करने के लिए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव खुद ही रविवार को चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट अमौसी पर पहुंचे। वहां से उन्हें अपने साथ लेकर विक्रमादित्य मार्ग स्थित मुलायम सिंह के निवास पर पहुंचे। मुलायम सिंह के घर लौटने से सपा कार्यकर्ताओं में खुशी की लहर है। सोशल मीडिया पर विजयदशमी के दिन नेताजी के घर वापस लौटने पर कार्यकर्ताओं ने इसे दशहरा का तोहफा बताया है।


कोरोना संक्रमित 14 को हुए थे


14 अक्टूबर को कोरोना संक्रमित होने के बाद मुलायम सिंह यादव को मेदांता में भर्ती कराया गया था तो सपा कार्यकताओं ने शीघ्र स्वस्थ होने के लिए प्रार्थन और पूजा-अनुष्ठान शुरू कर दिए थे। राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी उनके पास गए थे। उनकी अस्पताल के चिकित्सकों के साथ मुस्कुराते हुए फोटो भी आई थी।


उपचुनाव प्रचार में नहीं होंगे शामिल


चिकित्सकों ने मुलायम सिंह यादव को 15 दिन तक क्वारंटाइन रहने की सलाह दी है। अब वह विधानसभा उपचुनाव के प्रचार में शामिल नहीं हो सकेंगे। तबियत खराब होने के बावजूद समाजवादी पार्टी ने उन्हें स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल किया है। कार्यकर्ताओं का कहना है कि नेताजी को स्टार प्रचारक के तौर पर सभी प्रत्याशी व कार्यकर्ता चाहते हैं। पार्टी ने फैसला भी किया था, लेकिन स्वास्थ्य ठीक नहीं है तो जाने की जरूरत भी नहीं है। यह जिम्मेदारी कार्यकर्ता संभालने को तैयार हैं।


Post a Comment

0 Comments