भारत रत्न विश्वेश्वरैया के जीवन से प्रेरणा लें अभियन्ता : केशव प्रसाद मौर्य

  • उपमुख्यमंत्री ने विश्वेश्वरैया द्वार व मल्टीलेवल पार्किंग का किया शिलान्यास

  • उत्कृष्ट कार्य करने वाले अभियन्ता ओं और कर्मचारियों को किया सम्मानित

  • पीडब्ल्यूडी की मैगजीन, ई-मैगजीन व मैगजीन-न्यूज लेटर का किया विमोचन

प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, लखनऊ

भारत रत्न मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया के जीवन से प्रेरणा लेकर इंजीनियर देश व प्रदेश के उत्थान में महत्वपूर्ण योगदान करें। विश्वेश्वरैया, श्रीधरन, भाभा जैसे इंजीनियर वैज्ञानिक परम्परा के वाहक हैं। अभियंता इन परम्पराओं को जीवन्त बनाए रखते हुए देश को नई ऊचाइयाें पर ले जाने का कार्य करें। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य लोक निर्माण विभाग मुख्यालय स्थित विश्वेश्वरैया हाॅल में भारत रत्न मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया की जयंती पर आयोजित अभियन्ता दिवस समारोह में बोल रहे थे।


श्री मौर्य ने इससे पूर्व विश्वेश्रैया के नाम से 1 करोड़ 9 लाख की लागत से बने विश्वेश्वरैया भव्य द्वार का शिलान्यास किया। 19 करोड़ की लागत से बनने वाली मल्टी लेवल पार्किंग का भी शिलान्यास किया। उन्होने विभागीय पत्रिका का तथा ई-संस्करण व उप्र इंजीनियर्स एसोसिएशन की पत्रिका ‘‘न्यूज लेटर‘‘ का विमोचन किया। उन्होने लोक निर्माण विभाग के उत्कृष्ट व उल्लेखनीय कार्य करने वाले अभियन्ताओं व कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। प्रशस्ति पत्र के लिए चयनित 100 लोगों की सूची में से प्रतीक स्वरूप एक चैथाई लोगों को प्रशस्ति पत्र प्रदान किए।

श्री मौर्य ने कहा डाॅ. एपीजे अब्दुल कलाम देश को प्रगति के पथ पर ले जाने का जो विज़न देकर गए हैं, उस सोच के अनुरूप आपको अपने दायित्वों का निर्वहन करना है। उन्होने विभाग द्वारा शुरू की गई डाॅ. एपीजे अब्दुल कलाम गौरव पथ योजना, जय हिन्द वीर पथ योजना, मेजर ध्यानचन्द विजय पथ योजना की चर्चा करते हुए कहा कि विभाग द्वारा जहां सड़कें बनाई जा रहीं हैं। अभियन्ता और अधिकारी सड़कों के क्षेत्र में अच्छे कार्य करके नए कीर्तिमान स्थापित करें। उन्होने सभी कार्यरत व सेवानिवृत्त अभियन्ताओं को शिल्पकार की संज्ञा देते हुए ‘अभियन्ता दिवस’ की शुभकामनाएं दी। 


इस अवसर पर भारत रत्न विश्वेश्वरैया के जीवन दर्शन पर आधारित डाक्यूमेन्ट्री फिल्म भी दिखाई गई।

वहीं, प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग नितिन रमेश गोकर्ण ने कहा कि विश्वेश्वरैया ने सामाजिक क्षेत्र में भी अहम योगदान किया। समारोह को सचिव लोक निर्माण विभाग रंजन कुमार, व समीर वर्मा, विभागाध्यक्ष राजपाल सिंह, प्रमुख अभियन्ता एके जैन ने सम्बोधित किया। संचालन इंजीनियर जितेन्द्र कुमार बांगा ने किया। इस अवसर पर एमडी सेतु निगम अरविन्द श्रीवास्तव, एमडी राजकीय निर्माण निगम सत्यप्रकाश सिंघल, अजय गंगवार, आशीष यादव, उप्र इंजीनियर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरजीत सिंह निरंजन मौजूद रहे।



ये इंजीनियर हुए सम्मानित


प्रशस्ति पत्र पाने वालों में अयोध्या/वाराणसी के चीफ इंजीनियर राकेश राजवंशी, निर्माण निगम के एमडी सत्यप्रकाश सिंघल, मुख्य अभियन्ता अशोक अग्रवाल, अधीक्षण अभियन्ताओं में जितेन्द्र कुमार बांगा, अशोक कनौजिया, इरफान अहमद, राकेश सिंह अधिशासी अभियन्ताओं में संदीप सक्सेना, बच्चू लाल सिंह, पियूष द्विवेदी, सहायक अभियन्ताओं में सर्वश्री राजीव कुमार राय अवर अभियन्ताओं में पंकज मौर्या, आरके ओझा के आलावा कर्मचारियों में नीमा पन्त, रेखा केसरवानी, सर्वेश कुमार, आशीष श्रीवास्तव, जीवानन्द, नवीन त्रिपाठी, संजय चैरसिया, निर्मल मिश्रा, ललित सहवाल, विपिन सिंह, अतुल मौर्या व तुलसी राम हैं, जिन्हे कार्यक्रम के दौरान प्रशस्ति पत्र प्रदान किये गये। इस कार्यक्रम से विभिन्न जिलों के अभियन्ता वर्चुअल रूप से जुड़े रहे।

Post a Comment

0 Comments