मुख्य समाचार :गेंद और स्टिक के बेहतर समन्वय ने बनाया हाॅकी का जादूगर

  • वीर लोरिक स्पोर्ट्स स्टेडियम मेजर ध्यानचंद के जीवन पर व्याख्यान

प्रारब्ध न्यूज़ ब्यूरो, बलिया



गेंद और स्टिक के बेहतर समन्वय ने ही मेजर ध्यान चंद्र को हाॅकी का जादूगर बनाया था। जब वह खेलते थे ताे ऐसा प्रतीत होता था कि उनकी हाकी स्टिक से गेंद चिपक गई है। कई बार अंग्रेजों ने खेल रुकवा कर उनकी स्टिक भी चेक की। यह बातें शुक्रवार को वीर लोरिक स्पोर्ट्स स्टेडियम के बहुद्देशीय हाॅल में हाॅकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के जीवन पर आयोजित व्याख्यान में वक्ताओं ने कहीं।

व्याख्यान में मेजर ध्यानचन्द के चित्र पर माल्यार्पण किया। सभी ने मेजर ध्यानचन्द के खेल जीवन, व्यक्तित्व व कृतित्व पर प्रकाश डाला। इसके उपरांत जिला खेल कार्यालय ने सभी खेल संगठनों की बैठक हुई। उसमें खेल विभाग की योजनाओं एवं ख्यातिलब्ध पूर्व खिलाड़ियों के चयन पर मंथन किया गया। खेल संगठनों के अध्यक्ष एवं सचिव व्याख्यान व बैठक में मौजूद रहे। प्रमुख वक्ताओं में मेजर दिनेश सिंह, अरूण कुमार सिंह, धीरेन्द्र शुक्ला, विनोद कुमार सिंह, मिथिलेश श्रीवास्तव, नीरज सिंह 'गुड्डू', अजय सिंह, अम्बादत्त पाण्डेय, प्रभुनाथ यादव रहे। मुख्य अतिथि वाॅलीबाल के पूर्व राष्ट्रीय खिलाड़ी अक्षय कुमार राय व विशिष्ट अतिथि बास्केटबाल का इण्डिया कैम्प कर चुकी अनामिका राय रहीं। अध्यक्षता जिला ओलम्पिक संघ के अध्यक्ष ई. अरूण कुमार सिंह ने की। संचालन नीरज राय ने किया। इस अवसर पर उप क्रीड़ाधिकारी अजय प्रताप शाहू, अभिषेक सोनी, कनक चक्रधर, आशीष श्रीवास्तव, मो. इमरान, धनन्जय सिंह, मो. इरफान, पंकज द्विवेदी, चन्द्रभानु सिंह, राजेश दूबे, मो. वसीम, अरविन्द गुप्ता अरविन्द शुक्ला, अन्जली यादव मौजूद रहीं।


उपलब्धि प्राप्त खिलाड़ी के घर तक बनेगी पक्की सड़क

क्रीड़ाधिकारी डॉ. अतुल सिन्हा ने खेल विभाग उत्तर प्रदेश की योजनाओं के विषय में विस्तृत प्रकाश डाला। खेल विभाग की कोचिंग, प्रतियोगिता और उसकी कार्यप्रणाली पर चर्चा की। जिले के ख्यातिलब्ध पूर्व खिलाडियों को सूचीबद्ध करने पर भी मंथन किया गया। उन्होंने कहा कि सरकार प्रत्येक उपलब्धि प्राप्त खिलाड़ी के घर को पक्की सड़क से जोड़ने की योजना जल्द लाने जा रही है। उपमुख्यमंत्री जल्द ही घोषणा शीघ्र करेंगे। क्रीड़ाधिकारी ने भूतपूर्व राष्ट्रीय खिलाडियों की पेंशन योजना व पदक विजेताओं के नगद पुरस्कार योजना पर भी प्रकाश डाला।

Post a Comment

0 Comments