Big News : साठ फीट गहरे बोरवेल में गिरा किसान का बेटा

  • एसडीआरएफ की टीम पहुंची, देर रात रेस्क्यू ऑपरेशन जारी
  • ऑक्सीजन का किया गया इंतजाम, खाने को दिया दूध-बिस्कुट

प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, महोबा



जिले के जैतपुर के बुधौरा गांव में खेत में खेलते समय एक किसान का छह वर्षीय बेटा 60 फीट गहरे बोरवेल में गिर गया। जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहे मासूम को बचाने के लिए कई घंटे से रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। एसडीआरएफ की टीम ने मोर्चा संभाल लिया है। रात एक बजे तक 30 फीट खोदाई हो चुकी थी। ऑक्सीजन के इंतजाम करने के साथ ही मासूम को दूध और बिस्कुट पहुंचाया गया है।

जैतपुर ब्लॉक के बुधौरा गांव निवासी किसान भगीरथ कुशवाहा बुधवार को परिवार के साथ अपने खेत पर गेहूं की फसल में सिंचाई करने आए थे। उनका छह वर्षीय बेटा घनेंद्र भी साथ था। परिवारीजन सिंचाई में लगे थे। मासूम खेलते-खेलते खेत पर करीब एक फीट की चौड़ाई वाले बोरवेल में गिर पड़ा।

दोपहर एक बजे जब भगीरथ व उनकी पत्नी सिंचाई पूरी करने के बाद आए तो उनका पुत्र घनेंद्र गायब मिला। खोजबीन शुरू की लेकिन कहीं पता नहीं चला। जब बोरवेल के पास पहुंचने तो बेटे के रोने की आवाज सुनकर चीख पड़े। आसपास के किसानों के साथ ही बेलाताल पुलिस चौकी का फोर्स, कुलपहाड़ एसडीएम मोहम्मद अवेश व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेलाताल के डॉक्टर व अन्य अफसर वहां पहुंचे। फायर ब्रिगेड को बुलाया गया। स्थानीय प्रशासन ने बोरवेल के पास जेसीबी से खोदाई शुरू कराई।


सीएमओ डॉ. मनोज कांत के निर्देशन में स्वास्थ्य टीम ने घनेंद्र को ऑक्सीजन उपलब्ध कराई। शाम चार बजे बिस्कुट और दूध रखकर भेजा गया। बच्चे की आहट पाने को टार्च की रोशनी देकर पिता ने आवाज लगाई तो वह भी नीचे से बोला। किसान के मुताबिक, बोरवेल 60 फीट गहरा था। अब मिट्टी पडऩे से करीब 40 फीट गहराई होगी। डीएम सत्येंद्र कुमार ने बोरवेल के आसपास सर्च लाइटें लगवाकर रोशनी कराई। जेनरेटर का भी इंतजाम किया गया है। लखनऊ से राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) की रेस्क्यू टीम भी निरीक्षक वीरेंद्र दुबे के नेतृत्व में रात साढ़े आठ बजे टीम घटनास्थल पर पहुंच गई। उसके बाद खोदाई शुरू कराई गई है। रात एक बजे तक 30 फीट खोदाई हो चुकी थी।


विशेष चिकित्सा दल घटनास्थल पर है। एसडीआरएफ टीम ने जेसीबी से खोदाई रुकवा दी है। मजदूर लगाकर सफाई कराई जा रही है। जल्द ही बच्चे को सकुशल निकाल लिया जाएगा।

  • सत्येंद्र कुमार, जिलाधिकारी, महोबा।


सकुशल निकालने को प्रार्थना


बोरवेल में गिरे मासूम के सकुशल बाहर निकल आने को लेकर घटनास्थल समेत आसपास गांवों के लोगों के हाथ प्रार्थना के लिए जुड़ गए। मां क्रांति देवी, दोनों बहनें और पिता की आंखों में आंसू नहीं थम रहे।


टाइम लाइन


दोपहर 12.30 बजे : किसान भगीरथ परिवार समेत खेत पर थे।

01:00 बजे : मासूम घनेंद्र बोरवेल में गिरा।

01:30 बजे : स्वजन को उसके गिरने की बात पता चली।

02:00 बजे : स्थानीय प्रशासन पहुंचा।

2.10 बजे : लखनऊ में एसडीआरएफ को सूचना मिली।

2.30 बजे : प्रशासन ने जेसीबी मशीन से खोदाई शुरू कराई।

2.40 बजे : बच्चे को टार्च से देख कर उससे बातचीत की गई।

3.10 बजे : रेस्क्यू के लिए 20 सदस्यीय एसडीआरएफ टीम लखनऊ से रवाना।

3.40 बजे : बच्चे को ऑक्सीजन की व्यवस्था कराई गई।

3.45 बजे : डीएम सत्येंद्र कुमार घटनास्थल पर पहुंचे।

4.10 बजे : बोरवेल के आसपास लाइट की व्यवस्था की गई।

4.50 बजे : एसडीआरएफ टीम की लोकेशन ली गई।

8:00 बजे : जेसीबी से खोदाई बंद कराई गई।

8:30 बजे : एसडीआरएफ टीम मौके पर पहुंची, रेस्क्यू ऑपरेशन संभाला।

Post a Comment

0 Comments