Bihar Election Update : दूसरे चरण में दिग्गजों की अग्निपरीक्षा, 146 महिलाएं

प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, पटना



दूसरे चरण में 17 जिलों की 94 सीटों पर मंगलवार सुबह से वोट पड़ रहे हैं। इस चरण में जो बढ़त बनाने में जो भी दल या गठबंधन कामयाब होगा, उसका सत्ता पर दावा मजबूत होगा। इस बार कई दिग्गजों की अग्निपरीक्षा है, इसमें लालू के पुत्र, उनके समधी, नीतीश सरकार के वजीर, बाहुबली, बागी और कई दागी हैं। कई बड़े नेताओं के बेटे और रिश्तेदार भी मैदान में हैं। राजद, भाजपा और जदयू के बागी मैदान में हैं। कई बाहुबलियों की पत्नियां और बेटे भी चुनावी दंगल में ताल ठोक रहे हैं।


चुनाव मैदान में डटे हैं बागी


दूसरे चरण में कई बागी राजनीतिक दलों के लिए सिरदर्द बने हुए हैं। बागियों से सर्वाधिक परेाशान भाजपा है। जदयू को भी इस समस्या से दो-चार होना पड़ रहा है। भाजपा से मनोज कुमार सिंह, कामेश्वर सिंह मुन्ना, प्रदीप ठाकुर सहित कई बड़े नेता बगावत कर मैदान में डटे हैं। जदयू से रवि ज्योति, रामचंद्र सदा, ललन भुइयां, राजू गुप्ता, शैलेंद्र प्रताप एवं मंजीत सिंह भी बगावत कर अपना चुनावी दंगल में ताल ठोक रहे हैं।


कई बाहुबली डटे


दूसरे चरण में कई बाहुबली मैदान में हैं। बाहुबलियों में रीतलाल राय, काली पांडेय, बोगो सिंह, मुन्ना शुक्ला के नाम हैं। इसके अलावा बाहुबली प्रभुनाथ सिंह के भाई केदारनाथ सिंह, बेटा रणधीर सिंह, बाहुबली धूमल सिंह की पत्नी सीता देवी और बाहुबली रामा सिंह की पत्नी वीणा देवी मैदान में हैं। बाहुबली पूर्व सांसद आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद भी मैदान में हैं।


नेताओं के रिश्तेदार


पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव की बेटी सुभाषिणी यादव, शत्रुध्न सिन्हा के बेटे लव सिन्हा, पूर्व गवर्नर निखिल कुमार के भतीजे पप्पू सिंह के अलावा हरियाणा के गवर्नर सत्यदेव नारायण आर्य के बेटे कौशल किशोर एवं चिराग पासवान के चचेरे भाई कृष्ण राज की किस्मत ईवीएम में लॉक होगी। लालू प्रसाद के दोनों बेटे तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव, समधी चंद्रिका राय, पूर्व सांसद ओम प्रकाश यादव, पूर्व मंत्री नीतीश मिश्रा, आलोक कुमार मेहता भी किस्मत आजमा रहे हैं।


नीतीश के चार मंत्री की अग्नि परीक्षा


नीतीश सरकार के चार मंत्रियों की भी अग्नि परीक्षा है। नीतीश कुमार के गृह क्षेत्र नालंदा से उनके चहेते मंत्री श्रवण कुमार, मधुबन से मंत्री राणा रणधीर सिंह, पटना साहिब से भाजपा के दिग्गज नंदकिशोर यादव और हथुआ से रामसेवक सिंह डटे हैं। स्वघोषित मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार पुष्पम प्रिया चौधरी भी मैदान में हैं।


41352 मतदान केंद्र


चुनाव आयोग ने 41,352 मतदान केंद्र बनाए हैं। 8,694 मतदान केंद्र संवेदनशील हैं। 3,548 बूथों पर वेबकास्ट की व्यवस्था की गई है। इस चरण में सबसे अधिक उम्मीदवार महाराजगंज सीट पर हैं। यहां कुल 27 लोग चुनाव लड़ रहे हैं जबकि दरौली सीट पर से मात्र चार लोग मैदान में हैं।


वर्ष 2015 में जीते


राजद-33

जदयू-30

भाजपा-20

कांग्रेस-07

लोजपा-02

भाकपा माले-01

निर्दलीय-01


वर्ष 2020 में सीटों पर उम्मीदवार


राजद-56

कांग्रेस-24

भाकपा माले-06

माकपा-04

भाजपा-45

जदयू-43

वीआईपी-06

Post a Comment

0 Comments