Murder Mystery : पति की हत्या के बाद भी फेसबुक पर डालती रही पोस्ट, रिश्तेदार बोले- सरेंडर कर दो

उत्तर प्रदेश के बरेली का शिक्षक हत्याकांड


  • पति की हत्या के बाद भी आरोपी पत्नी विनिता सोशल मीडिया पर रही सक्रिय


प्रारब्ध न्यूज डेस्क, लखनऊ



उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के हिंदी प्रवक्ता की हत्या के मामले में बरेली पुलिस ने फिरोजाबाद कोर्ट से हिस्ट्रीशीटर शेर सिंह उर्फ चीकू का ‘बी’ वारंट हासिल कर लिया है। इससे उसे जमानत नहीं मिल सकी तो बरेली लाने के लिए रिमांड अर्जी दी जा सकेगी। यहां बता दें कि पति की हत्या के बाद भी आरोपी पत्नी विनिता सोशल मीडिया पर सक्रिय थी। अब रिश्तेदार उसे कोस रहे हैं और जल्दी पुलिस के सामने हाजिर होने को कह रहे हैं।


शिक्षक पति अवधेश की हत्या करने के अगले दिन 13 अक्तूबर को विनिता ने रात सवा नौ बजे अपनी कंपनी के प्रचार का एक वीडियो फेसबुक पर डाला था। अब वह ऑफलाइन है पर अवधेश व विनिता के रिश्तेदार अब इसकी पोस्ट पर कमेंट डालकर उसे चेतावनी दे रहे हैं कि वह बच नहीं पाएगी। उसे पुलिस के सामने आकर सरेंडर कर देना चाहिए।


एक रिश्तेदार ने उसे ‘दीदी, सरेंडर कर दो’ लिखा तो दूसरे ने तुरंत ही कमेंट डाला कि उसे ‘सम्माननीय’ भाषा में संबोधन करने की जरूरत नहीं है। अवधेश के चचेरे भाई रविंद्र जादौन ने फेसबुक आईडी पर सभी हत्यारोपियों के फोटो का कोलाज बनाकर डाला है और लोगों से इनके बारे में सूचना पुलिस को देने का आह्वान किया है। कई लोगों ने विनिता की तलाश के लिए उसका फोटो शेयर करने की अपील की है। वहीं, आरोपी चीकू का ‘बी’ वारंट बुधवार को पुलिस ने हासिल कर लिया।


शिक्षक की मां और भाई आए बरेली


अंतिम संस्कार के बाद आगे की कार्रवाई में तेजी लाने के लिए शिक्षक की मां अन्नपूर्णा देवी व भाई रमेश सिंह बरेली घर आए और आसपास के लोगों से घटनाक्रम की जानकारी ली। बाद में वह इज्जत नगर थाने पहुंचे। वहां उन्होंने इंस्पेक्टर केके वर्मा से मुलाकात कर आरोपियों को जल्द पकड़वाने की मांग की। 


फिरोजाबाद में गलियां छान रही बरेली पुलिस


विनिता और उसके परिवार के लोग अभी तक फरार हैं। बरेली के इज्जत नगर थाने की पुलिस टीम दरोगा प्रवीण कुमार के नेतृत्व में अब भी फिरोजाबाद में भटक रही है। पुलिस तमाम रिश्तेदारियों में इनकी तलाश कर चुकी है। सभी के मोबाइल ऑफ हैं तो सोशल मीडिया अकाउंट पर भी हलचल नहीं है। 


मालूम हो कि लग्जरी जिंदगी की आदि विनिता ने पांच लाख की सुपारी देकर पति अवधेश जादौन की हत्या करवा दी थी। हत्या की सुपारी लेने वाले चीकू ने बताया था कि शिक्षक की हत्या के लिए उसकी पत्नी विनीता देवी, साली ज्योति, ससुर अनिल फौजी, साला प्रदीप ने उसे पांच लाख रुपये की सुपारी दी थी।


पुलिस की छानबीन के मुताबिक उम्र के बड़े अंतर और सीधेसादे मिजाज ने अवधेश के वैवाहिक जीवन में जहर घोल दिया था। अवधेश 43 साल तो विनीता उर्फ बिंदु 31 साल की ही थी। ब्यूटी पार्लर चलाने वाली विनीता बिंदास जिंदगी जीने की आदी थी। सरकारी नौकरी के चक्कर में 12 साल पहले विनीता ने अवधेश से शादी तो कर ली, लेकिन उसके विचार कभी उनसे नहीं मिले। 



Post a Comment

0 Comments