Murder Mystery : पति से मिली थी कार खरीने की रकम, हत्या की सुपारी में दी

उत्तर प्रदेश के बरेली का शिक्षक हत्याकांड


  • शिक्षक की मां और भाई का सनसनीखेज खुलासा, कार खरीदने की रकम से कराई हत्या

प्रारब्ध न्यूज डेस्क, लखनऊ



उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के शिक्षक अवधेश की हत्यारोपी पत्नी विनीता और ससुराल वालों का सुराग अभी नहीं लग सका है। बरेली पुलिस की टीम विनीता व उसके परिवार की फिरोजाबाद में तलाश कर रही है। विधानसभा उप चुनाव में व्यस्तता के कारण स्थानीय पुलिस की खास मदद नहीं मिल पा रही है। 

इस बीच बरेली आए अवधेश के भाई और मां ने बताया कि पत्नी की जिद पर अवधेश ने उसे तीन लाख रुपये कार खरीदने के लिए दिए थे। उसी रकम को हिस्ट्रीशीटर चीकू को देकर पत्नी ने उसकी हत्या करवा दी।



शिक्षक अवधेश कुमार की उन्हीं के घर में हत्या करके पत्नी, ससुराल वाले व सुपारी किलर शव को गाड़ी में डालकर फिरोजाबाद ले गए थे। वहां शव जलाकर अधजली हालत में खेत में दबा दिया। राज खुलने के बाद इज्जतनगर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की। इससे पहले ही फिरोजाबाद पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर हत्यारोपी शेर सिंह उर्फ चीकू को एक दूसरे मामले गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। 


अब बरेली कोर्ट से चीकू का बी वारंट बनवाकर इज्जतनगर पुलिस ने फिरोजाबाद जिला जेल व कोर्ट में दाखिल कर दिया है। ताकि चोरी के मामले में जमानत कराकर छूट न जाए। बी वारंट पर चार नवंबर को सुनवाई होनी है। इधर, विनीता व उसके परिवार की तलाश में दरोगा प्रवीण कुमार की टीम फिरोजाबाद में दबिश दे रही है। 


इन दिनों फिरोजाबाद में उपचुनाव होने की वजह से वहां की कोई खास मदद नहीं मिल पा रही है। अवधेश के परिवार के मुताबिक भाई की कार इस्तेमाल कर रही विनीता काफी समय से अवधेश पर नई कार दिलाने का दबाव बना रही थी। 


अवधेश ने इसके लिए तीन लाख रुपये उसे घटना से कुछ दिन पहले ही दिए थे। 14 या 15 अक्तूबर को अवधेश कार की बुकिंग कराने जाने वाले थे ताकि धनतेरस पर कार घर ला सकें। रकम हाथ में आते ही विनीता ने पति की हत्या का प्लान बना लिया और चीकू को कुछ रकम सौंप दी। बाकी रुपया तेरहवीं आदि रस्म के बाद देने का वादा किया था।

Post a Comment

0 Comments