Covid-19 : स्पेन में संक्रमण की दूसरी लहर

  • मैड्रिड स्पेन के सर्वाधिक संक्रमण होने पर लगाया कर्फ्यू
  • सरकार के सख्त कदम, राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा


प्रारब्ध न्यूज डेस्क


स्पेन ने कोविड-19 संक्रमण की नई लहर को नियंत्रित करने के लिए रात के वक्त में कर्फ्यू लगा दिया है। साथ ही राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा की गई है।

स्पेन के प्रधानमंत्री पेद्रो सांचेज ने कहा कि रात 11 बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू रहेगा यानी लोगों के घर से बाहर निकलने पर रोक रहेगी। इन प्रतिबंध को वहां रविवार से लागू कर दिया गया है।


सांचेज ने कहा कि आपातकाल के तहत स्थानीय प्रशासन विभिन्न क्षेत्रों में आने-जाने पर भी प्रतिबंध लगा सकते हैं। संसद से नए नियमों की समयावधि बढ़ाकर छह महीने करने के लिए कहेंगे, जो फिलहाल 15 दिन के लिए हैं।


साल की शुरुआत में संक्रमण की पहली लहर के दौरान स्पेन में हालात चिंताजनक थे। जिसे देखते हुए सख्त लॉकडाउन किया गया था, जो दुनिया के सबसे सख्त लॉकडाउन में से एक था। हालांकि दूसरे यूरोपीय क्षेत्रों की तरह ही स्पेन भी संक्रमण की दूसरी लहर की चपेट में है।


इटली में रविवार से नए प्रतिबंधों की घोषणा की गई। सरकार ने कहा कि बढ़ते कोविड केस को देखते हुए देश की स्वास्थ्य सेवाओं पर बोझ बढ़ा है। इस बीच फ्रांस में रिकॉर्ड मामले दर्ज किए गए हैं। रविवार को 24 घंटे में वहां संक्रमण के कुल 52,010 मामले सामने आए, जबकि शनिवार को इसके मुकाबले 45 हजार से कुछ ज्यादा मामले दर्ज किए गए थे।


स्पेन में प्रतिबंध लगे


प्रधानमंत्री सांचेज ने कहा कि अलग-अलग क्षेत्र अगर रात के कर्फ्यू में अपने हिसाब से कुछ बदलाव करना चाहते हैं तो वो इसे एक घंटे आगे-पीछे कर सकते हैं। एक जिले से दूसरे जिले में आने-जाने के प्रतिबंध क्षेत्रीय नेता तय करेंगे। चाहें तो काम या स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों के लिए ही इजाजत दें।


प्रधानमंत्री सांचेज ने रविवार को टीवी के जरिए अपने संबोधन में कहा, 'हम मुश्किल वक्त से गुजर रहे हैं। पिछले 50 सालों में ये सबसे गंभीर हालात हैं।'

स्पेन के 17 क्षेत्रों में से आधे से ज्यादा सख्त प्रतिबंध लगाए जाने की मांग कर रहे थे। ताजा प्रतिबंध कैनरी द्वीप को छोड़कर सभी क्षेत्रों पर लागू होंगे। इससे पहले अप्रैल में महामारी की पहली लहर के दौरान ऐसा ही आपातकाल लगाया गया था।


महामारी की शुरुआत से अबतक स्पेन में संक्रमण के मामले 10 लाख से पार हो गए हैं और 35 हजार लोगों की मौत हुई है।


इटली में रोकथाम के लिए उपाए


इटली में सोमवार से सिनेमा, स्विमिंग पूल, थिएटर और जिम बंद कर दिए गए। बार, रेस्तरां और कैफे की सेवाएं शाम 6 बजे तक बंद रहेंगी, लेकिन दुकानें और ज्यादातर कारोबार चालू रहेंगे।


इटली में नए प्रतिबंध प्रधानमंत्री ज्यूसेप कोंटे और क्षेत्रीय नेताओं की समहति से लगाए गए हैं। इतालवी प्रधानमंत्री कोंटे ने रविवार को प्रेसवार्ता में कहा, 'हमें लगता है कि इस महीने हमें थोड़ी परेशानी उठानी होगी लेकिन इन प्रतिबंधों की वजह से थोड़ी परेशानी झेलकर हम दिसंबर में दोबारा सांस लेने की स्थिति में होंगे।'



प्रधानमंत्री ने कहा कि वो पहली लहर की वजह से मार्च और अप्रैल में लगाए लॉकडाउन की तरह दोबारा नेशनल लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते, क्योंकि तब बहुत आर्थिक नुकसान हुआ था। नए प्रतिबंधों के तहत ज्यादातर स्कूलों की पढ़ाई क्लासरूम के बजाए ऑनलाइन कराई जाएगी। रविवार को इटली में एक दिन में रिकॉर्ड 21,200 से ज्यादा मामले दर्ज किए गए। जबकि 128 लोगों की मौत हुई।


(बीबीसी हिंदी के सौजन्य से।)


Post a Comment

0 Comments