Breaking News : स्वामी रामभद्राचार्य ने कोरोना को हराया

  • 22 दिन बाद स्वामी जी को लखनऊ के संजय गांधी पीजीआइ से मिली छुट्टी

प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, लखनऊ


तुलसी पीठ के संस्थापक स्वामी रामभद्राचार्य 22 दिन की मशक्कत के बाद कोरोना वायरस को मात देने में कामयाब हुए हैं। उनकी दो लगातार कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद शनिवार को लखनऊ के संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) से उन्हें छुट्टी दे दी गई।


एसजीपीजीआई के निदेशक प्रो. आरके धीमान ने बताया कि कोरोना का संक्रमण होने पर 72 वर्षीय स्वामी रामभद्राचार्य को कोरोना संक्रमण होने पर भर्ती कराया गया था। शनिवार को उन्हें स्वस्थ्य होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। उनकी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव होने के साथ ही डायबिटीज समेत अन्य सभी जांच रिपोर्ट सामान्य पाई गईं हैं।


22 अगस्त को स्वामी रामभद्राचार्य कोरोना संक्रमित हो गए थे। उन्हें लखनऊ के एसजीपीजीआई में भर्ती कराया गया था। सांस लेने में तकलीफ होने पर डॉक्टरों ने उन्हें आइसीयू में शिफ्ट कर दिया था। स्वामी ने अस्प्ताल से छुट्टी होने के बाद डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मियों की सेवा को सराहा और धन्यवाद भी दिया।


जौनपुर जिले में जन्मे 72 वर्षीय स्वामी रामभद्राचार्य चित्रकूट स्थित जगद्गुरु रामभद्राचार्य विकलांग विश्वविद्यालय के संस्थापक और चांसलर हैं।

Post a Comment

0 Comments