Breaking News : मुरादाबाद : सपा विधायक के चाचा ने अपनी जाति ही बदली

  • जिला पंचायत सदस्य का पिछड़ी जाति प्रमाण पत्र किया गया निरस्त

प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, मुरादाबाद


जिपं सदस्य मुहम्मद उस्मान
समाजवादी पार्टी से बिलारी क्षेत्र से विधायक मुहम्मद फहीम के चाचा एवं जिला पंचायत सदस्य मुहम्मद उस्मान ने अपनी जाति ही बदल दी थी। अपना प्रभाव दिखाते हुए पिछड़ी जाति का प्रमाण पत्र हासिल कर लिया था। जिसे प्रशासनिक समिति ने निरस्त कर दिया है। इसके लिए दो साल तक लंबी जांच भी चली। तब जाकर उनका जाति प्रमाण पत्र निरस्त करने का फैसला लिया गया।


बिलारी निवासी सनी लाठर ने 18 जुलाई 2018 को जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह को पत्र देकर अवगत कराया था कि इब्राहिमपुर गांव निवासी मुहम्मद उस्मान सामान्य जाति (तुर्क) बिरादरी से आते हैं। उन्होंने सपा सरकार में सत्ता का प्रभाव दिखाकर वर्ष 2012 में खुद को झोजा जाति का बताते हुए पिछड़ा जाति का प्रमाणपत्र बनवा लिया था।


जिला पंचायत चुनाव से लेकर सभी सरकारी दस्तावेजों में उनके द्वारा इसी प्रमाणपत्र से अनुचित लाभ भी लिया गया। इस मामले की जांच के लिए जिलाधिकारी की अध्यक्षता में पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी, एडीएम वित्त एवं राजस्व, एसडीएम बिलारी समेत चार सदस्यीय समिति का गठन किया गया। 


समिति ने दो साल की लंबी जांच के बाद 16 पन्नों की रिपोर्ट तैयार की। इसके बाद मुहम्मद उस्मान का जाति प्रमाण पत्र निरस्त कर दिया। बिलारी उपजिलाधिकारी प्रबुद्ध सिंह ने बताया कि शुक्रवार को जांच रिपोर्ट के आधार पर मुहम्मद उस्मान के पिछड़ी जाति के प्रमाणपत्र को निरस्त कर दिया गया। इस संबंध में दोनों पक्षों को तहसीलदार के माध्यम से पत्र भेजकर सूचना दी गई है। 


वहीं, जिला पंचायत सदस्य एवं विधायक के चाचा मुहम्मद उस्मान का कहना है कि हमारी तीन पीढ़ियों को यही प्रमाणपत्र जारी होता रहा है। समिति की कार्रवाई दोषपूर्ण है। अचानक यह कार्रवाई कैसे हुई। मुझे इसकी सूचना भी नहीं है।

Post a Comment

0 Comments