Prarabdh Dharm-Aadhyatm : आज का पंचांग (16 जनवरी 2022)

16 जनवरी, दिन : रविवार


विक्रम संवत : 2078 (गुजरात - 2077)


शक संवत : 1943


अयन : दक्षिणायन


 ऋतु : शिशिर


मास -  पौस


पक्ष -  शुक्ल


तिथि - चतुर्दशी 17 जनवरी  रात्रि 03:18 तक तत्पश्चात पूर्णिमा


नक्षत्र - आर्द्रा 17 जनवरी रात्रि 02:09 तक तत्पश्चात पुनर्वसु


योग -  इन्द्र शाम 03:21 तक तत्पश्चात वैधृति


राहुकाल -  शाम 04:56 से शाम 06:18 तक


सूर्योदय - 07:19


सूर्यास्त - 18:17


दिशाशूल - पश्चिम  दिशा में


व्रत और त्योहार


एकादशी 


28 जनवरी : षटतिला एकादशी


प्रदोष  


30 जनवरी : रवि प्रदोष


पूर्णिमा


17 जनवरी : पौष पूर्णिमा 


व्रत पर्व विवरण - 


विशेष - चतुर्दशी और पूर्णिमा  रविवार, और व्रत के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)

          

किसानो के लिए


अपना खेत हो तो खेत में पश्चिम की तरफ पीपल का पेड़ लगा दो, पितर लोग राजी होंगे व सुख शांति होगी l खेत में कुआँ पूर्व-उत्तर के कोने में हो l पश्चिम और दक्षिण की तरफ अपना निवास हो खेत में बरकत आएगी l


कदवृद्धि


जिन बच्चों का कद नहीं बढता वे पुलअप्स का अभ्यास करें और बेल के 6 पते व 2-4 काली मिर्च हनुमानजी का स्मरण करते हुए चबा चबाकर खाएं उसमे पानी डाल के पीसकर भी खा सकते हैं l


कैन्सर में


1-सुबह मंजन करने के पहले बासी मुंह, 1 तोला (10-12 मि. ग्रा.) देशी गाय का गौ मूत्र छानकर ले या ये न मिले तो गौझरण में 10-12 मि.ग्रा पानी डाल के लें( आश्रम में मिलता है )थोड़े दिन में कैन्सर की बीमारी मिट जायेगी l

Post a Comment

0 Comments