Energy Minister Shrikant Sharma said in Lucknow, conduct technical Audit of all Divisions : ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा लखनऊ में बोले, सभी डिवीजनों की कराएं टेक्निकल ऑडिट

ऊर्जा मंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से की डिस्कॉम्स की समीक्षा


टेम्पररी कनेक्शन्स की भी जांच के निर्देश


अनियमितता पर कार्रवाई कर तय करें डिस्कॉम्स की जवाबदेही


समय पर मिले सही बिल, सुनिश्चित कराएं यूपीपीसीएल अध्यक्ष


लापरवाही पर बिलिंग एजेंसी, डायरेक्टर व एमडी को भी बनाएं जवाबदेह


उपभोक्ता की संतुष्टि ही हमारी संतुष्टिक्षेत्रों में ई- रिक्शा से कराएं ओटीएस का प्रचार-प्रसार 


प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, लखनऊ

सूबे के ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री श्रीकांत शर्मा ने सोमवार को उपभोक्ता हित में प्रदेश के सभी वितरण खंडों की टेक्निकल ऑडिट कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता सेवाओं में कमियों की शिकायतें लगातार मिल रही हैं, जिनके निस्तारण में लापरवाही बरती जा रही है। उपभोक्ता शिकायतों में लापरवाही स्वीकार्य नहीं है। उनकी शिकायतों का शत-प्रतिशत निस्तारण  सुनिश्चित किया जाए। उपभोक्ता की संतुष्टि ही हमारी संतुष्टि का मानक है। लापरवाही पर कार्रवाई की जाए और डिस्कॉम्स की भी जवाबदेही तय हो। 


उन्होंने कहा कि समय पर बिल नहीं मिलने की शिकायतें मीडिया और उपभोक्ताओं से प्राप्त हो रही हैं। उन्होंने इस पर नाराजगी जाहिर करते हुए यूपीपीसीएल अध्यक्ष को निर्देशित किया कि 'सही बिल-समय पर बिल' उपभोक्ता को मिले जिससे वे समय पर अपने बिलों का भुगतान कर सकें। साथ ही एकमुश्त समाधान योजना का भी अधिक से अधिक लाभ ले सकें। उन्होंने उपकेंद्र पर एकमुश्त समाधान योजना की धीमी प्रगति पर नाराजगी जताते हुए सभी लाभार्थी उपभोक्ताओं को इससे जोड़ने के लिए निर्देशित किया। कहा कि सरकार ने उपभोक्ता हित में योजना की तिथि 15 दिसंबर तक बढ़ाई है, इसलिए सभी लाभार्थी उपभोक्ताओं को इससे जोड़ने के लिए अधिकारी लक्ष्यों की नियमित समीक्षा करें। डिवीजन्स में ई-रिक्शा के माध्यम से योजना का प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करें।

उन्होंने अस्थाई विद्युत कनेक्शन्स की भी जांच करने को कहा है। यूपीपीसीएल अध्यक्ष को निर्देश देते हुए कहा कि टेम्पररी कनेक्शन्स देने में अनियमितता की शिकायतें आई हैं, ऐसे में इसकी जांच कराकर अनियमितताओं पर कार्रवाई सुनिश्चित की जाये। नियमों के अधीन उन्हें स्थायी किया जाए। कहा कि डिवीजन्स की तकनीकी ऑडिट में डेटा क्लीनिंग और एजसेप्शन्स पर ठीक से काम करें। स्टॉप बिलिंग जैसा कोई भी कॉन्सेप्ट व्यवस्था में नहीं है, इसका ध्यान रख डेटा ठीक करें। 

उन्होंने यूपीपीसीएल अध्यक्ष को निर्देशित किया कि उपभोक्ता हित में बिलिंग एजेंसियों से हुए करार का शत प्रतिशत अनुपालन हो, प्रतिदिन के लक्ष्यों की समीक्षा हो। लापरवाही पर एजेंसी व डिस्कॉम दोनों की जवाबदेही तय की जाए। सभी उपभोक्ताओं को समय से बिल मिले, बिल में किसी प्रकार की त्रुटि न रहे, हर माह मीटर की रीडिंग सुनिश्चित हो। कहीं भी कमी है तो उसे तत्काल दूर कर संबंधित को जवाबदेह बनाएं। उपभोक्ता सेवाओं में किसी भी प्रकार की लापरवाही स्वीकार्य नहीं है। 

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि  सभी उपभोक्ताओं को रीडिंग के अनुसार बिल प्राप्त हो जाने चाहिए। उन्होंने यूपीपीसीएल अध्यक्ष को निर्देशित किया कि डिवीजनवार हर जनपद की बिलिंग की रोजाना समीक्षा की जाए। कमियों को तत्काल दूर किया जाए, जिससे उपभोक्ताओं को कठिनाई न हो। ऊर्जा मंत्री की वीडियो कांफ्रेंसिंग में यूपीपीसीएल अध्यक्ष एम देवराज, प्रबंध निदेशक पंकज कुमार के साथ सभी डिस्कॉम्स के एमडी व डायरेक्टर्स सम्मिलित हुए।

Post a Comment

0 Comments