Kanpur Jajmau : जाजमऊ के प्राचीन शिव मंदिर को कब्जे से मुक्त कराया


प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, कानपुर


जिले के जाजमऊ के गंगा के किनारे शमशान घाट के समीप स्थित प्राचीन शिव मंदिर पर दूसरे समुदाय के लोगों द्वारा अतिक्रमण करने की सूचना मिली। इस पर विश्व हिन्दू परिषद के प्रांत संगठन मंत्री मधुराम ने वहां जाकर स्थिति का जायजा लिया। उनके साथ सनातन मंदिर चेतना सोसाइटी के सदस्य भी मंदिर का मौका मुआयना करने गए।



विहिप के पदाधिकारियों ने वहां पाया कि प्राचीन शिव मंदिर को चारों तरफ से अतिक्रमण करके बंद कर दिया गया है। मंदिर के आसपास दूसरे समुदाय के कुछ परिवारों को बसा दिया गया। मंदिर के गर्भ गृह के अंदर गंदगी का अंबार लगा था। बरसों से मंदिर में पूजन-अर्चना नहीं हो रहा था। युवाओं ने प्राचीन मंदिर में दूसरे समुदाय के अतिक्रमण के प्रति नाराजगी जताई गई। उनके कब्जे से मंदिर को मुक्त कराने के बाद वहां उत्साह का माहौल नजर आने लगा।


मंदिर की साफ-सफाई कराई



विहिप एवं सनातन मंदिर चेतना सोसाइटी के सदस्यों ने मंदिर की साफ-सफाई की। उसके बाद पूजन-अर्चना भी किया गया। अतिक्रमण करने वाले दूसरे समुदाय के लोगों को दोबारा ऐसी हरकत न करने की चेतावनी भी दी। अतिक्रमण करने वाले लोग दूसरे समुदाय के हैं। वहीं कुछ हिंदू परिवार के हैं। उन सभी को चेतावनी दी गई। 15 दिन के अंदर यहां की व्यवस्था को ठीक कर के अतिक्रमण खाली करने का अल्टीमेटम दिया गया।


युवा संभालेंगे मंदिर की व्यवस्था



विहिप और सोसाइटी के सदस्यों ने युवाओं की एक टीम बनाई है। यह टीम मंदिर की व्यवस्था संभालने के लिए गठित की गई। जो मंदिर में पूजन अर्चन से लेकर साफ-सफाई की व्यवस्था संभालेगी।


यह पदाधिकारी रहे मौजूद

विहिप के प्रांत संगठन मंत्री मधुराम, निमिष अग्निहोत्री, विवेक, अनिल, विनय, सर्वेश, शिवाकांत दिक्षित, नरेंद्र शास्त्री, संकल्प गुप्ता, सर्वेश, अमरनाथ, आलोक, गिरिजा शंकर, मनीष, चेतन, राजा के साथ विहिप, सनातन मंदिर चेतना सोसाइटी, बजरंग दल, वैदिक सनातन धर्मोत्थान सेवा समिति के युवा कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

Post a Comment

0 Comments