Old Pension Scheme:शिक्षकों ने काली पट्टी बांध किया प्रदर्शन


-कैशलेश इलाज और पुरानी पेंशन बहाली है प्रमुख मांगे
-21 सूत्रीय मांगों के लिए पांच तक चलेगा प्रदर्शन

प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, कानपुर।
 
पुरानी पेंशन बहाली और कैशलेश इलाज समेत 21 सूत्रीय मांगों को लेकर सोमवार को शिक्षकों ने काली पट्टी बांधकर अपना विरोध जताया। पांच दिन तक चलने वाले इस प्रदर्शन के पहले दिन शिक्षको को भरपूर समर्थन मिला। सोमवार से ही सभी विद्यालयों को बच्चों के लिए खोला गया था। शिक्षकों ने बच्चों को पढाने व अन्य शैक्षणिक कार्य के साथ ही पूरे दिन अपना विरोध भी जताया। उधर पहले दिन बच्चों के आने से स्कूलों में खूब चहल पहल भी रही। अधिकांश विद्यालयों में बच्चों के लिए वेलकम पार्टी का भी आयोजन किया गया। 

शिक्षक संगठन के पदाधिकारियों ने बताया कि गोपनीय आख्या अंकन हेतु नियमावली के विरुद्ध जाकर महानिदेशक महोदय स्कूल शिक्षा उत्तर प्रदेश द्वारा निर्धारित किये गए पैरामीटर्स के विरोध में ,पुरानी पेंशन बहाली,शिक्षा मित्रो तथा अनुदेशकों का मानदेय बढ़ाये जाने,प्रत्येक विद्यालय में एक चतुर्थ श्रेणी एवं एक लिपिक की नियुक्ति किये जाने, प्रदेश के शिक्षकों को कैशलेस इलाज की सुविधा दिये जाने, बेसिक शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्त किये जाने तथा अन्य कर्मचारियों की भाँति बेसिक शिक्षकों को पूरे सेवा काल कम से कम तीन पदोन्नति का लाभ दिए जाने जैसी तर्कसंगत, ज्वलंत एवं आवश्यक 21 सूत्रीय  मागों का माँगपत्र जोकि 17 फरवरी2021 को प्रदेश के प्रत्येक जिले से जिलाधिकारी महोदय के माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री जी को भेजा गया था।किंतु खेद का विषय है कि शासन स्तर पर माँगपत्र अभी कोई विचार नहीं किया गया है।इसी के विरोध में संगठन ने यह निर्णय लिया है कि दिनाँक 1मार्च 2021 से 5 मार्च 2021तक प्रदेश के सभी बेसिक शिक्षक हाथ मे काली पट्टी बांधकर शिक्षण कार्य करेंगे। 

 सोमवार को जब स्कूल खुले तो सभी शिक्षकों ने अपने हाथों में काली पट्टी बांधकर 21 सूत्रीय मांगों को लेकर विरोध किया। प्रदेश भर में यह प्रदर्शन पांच मार्च तक जारी रहेगा।

शरद त्रिपाठी
9451523499

Post a Comment

0 Comments