Big News : तेज हवा-बारिश से बढ़ी ठंड, प्रदूषण छूमंतर

  • पश्चिमी विक्षोभ के असर से 38.4 मिलीमीटर हुई वर्षा
  • मौसम और बढे़गी ठंडक, रहेगी धुंध, चलेगी शीत लहर



प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, लखनऊ


दीपावली के बाद मौसम का मिजाज ही बदल गया है। तेजी हवा और बारिश ने ठंड बढ़ा दी है। राहत की बात यह है कि बारिश ने दीपावली का प्रदूषण छू-मंतर हो गया। पश्चिमी विक्षोभ की वजह से रविवार देर रात तेज हवा चलने लगी और जमकर झमाझम बारिश हुई। आसमान में तेज आवाज के साथ बिजली कड़कती रही। सोमवार सुबह आठ बजे तक 38.4 मिलीमीटर वर्षा रिकार्ड की गई। सुबह-शाम को धुंध और शीत लहर चल सकती है।


मौसम विभाग ने इस वर्ष अधिक ठंड पड़ने का अलर्ट जारी किया है। बारिश की वजह से हवा में मौजूद हानिकारक तत्व और नुकसानदायक गैसों का घनत्व कम हो गया है। वातावरण में पटाखों के अतिसूक्ष्म तत्व भी धुल गए। वायु गुणवत्ता सूचकांक अगले 48 घंटे तक बेहतर स्थिति में रहेगा।


कैस्पियन सागर और भूमध्य सागर से 10 नवंबर को पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हुआ और यह ईरान, इराक, अफगानिस्तान, पाकिस्तान से होता हुआ पाकिस्तान और जम्मू कश्मीर के ऊपर सैकड़ों फुट की ऊंचाई पर पहुंच गया। जिससे शुष्क लिए पश्चिमी हवा जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड के पहाड़ी और गंगा व जमुना के मैदानी क्षेत्रों की ओर पहुंचने लगी है। यह पहाड़ों से टकराकर बर्फबारी करेगी। मैदानी इलाकों में वर्षा कराएगी। रविवार देर रात तेज हवा संग बारिश हुई।


इन शहरों में असर


कानपुर, झांसी, इलाहाबाद, फैजाबाद, बरेली, आगरा आदि शहरों में वर्षा हुई। इसका असर, नई दिल्ली, गुरुग्राम, करनाल, जबलपुर, भोपाल, इंदौर, कोटा, जयपुर में भी रहा।


वर्षा के दो घंटे बाद गिरा प्रदूषण का स्तर


रात करीब साढ़े 11 बजे से सुबह चार बजे तक बारिश हुई, जिसकी वजह से इन शहरों में वायु प्रदूषण का स्तर दो घंटे बाद ही गिरना शुरू हो गया। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मॉनीटरिंग स्टेशनों ने पहले के मुकाबले हानिकारक गैसों के गिरने के आंकड़े प्रस्तुत किए हैं।


पटाखों के अति सूक्ष्म तत्व भी गायब


पटाखों में चमक और रंग बिरंगी रोशनी के लिए कई तरह के बारूद का इस्तेमाल होता है। इसको जलाने से अतिसूक्ष्म मेटल्स निकलते हैं। वर्षा और तेज हवा के बाद वातावरण से गायब हो गए हैं। पटाखों में रुबेडियम, स्ट्रांशियम, बैरियम, कॉपर, एल्युमिनियम के अतिसूक्ष्म मेटल्स होते हैं।

Post a Comment

0 Comments