Covid-19 : बच्चों ने कागज पर उकेरे मन के भाव

  • जागरूक कानपुर अभियान के तहत हुई स्लोगन लेखन प्रतियोगिता
  • अनन्या और लक्ष्मी ने अव्वल, विजयी प्रतिभागी को किया गया पुरस्कृत


प्रारब्ध न्यूज ब्यूरो, कानपुर


कोरोना वायरस के संक्रमण पर रोक लगाने के लिए जागरूक कानपुर अभियान को गति देने के लिए बच्चे भी आगे आने लगे हैं।

आमजन को कोविड-19 के प्रोटोकाॅल के तहत मास्क लगाने व शारीरिक दूरी का पालन करने के लिए बच्चों ने हाथों में रंग-बिरंगे पेन पकड़ कर जागरूकता के लिए मन को लुभाने वाले स्लोगन कागज पर उकेर दिए।


जागरूक कानपुर अभियान को गति देने के लिए सेंटर फार एडवोकेसी एंड रिसर्च (सीफार) की ओर से मंगलवार को नारायण दास का हाता, ग्वालटोली में परिवर्तन संस्था के अध्यक्ष अनूप द्विवेदी की अध्यक्षता में स्लोगन लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता में 21 बच्चे शामिल हुए। शानदार स्लोगन लिखने वाले बच्चों को कोरोना से बचाव के लिए सुरक्षा किट प्रदान की गई। 


प्रथम पुरस्कार अनन्या मिश्रा और द्वितीय पुरस्कार लक्ष्मी को प्रदान किया गया। संध्या और देव्यांग संयुक्त रूप से तीसरा स्थान पर रहे।

पूर्व पार्षद विनय कुमार ने विजयी प्रतिभागियों को सेफ्टी किट प्रदान कर प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि मास्क को लेकर आमजन को जागरूक करने के लिए छेड़ी गई मुहिम सराहनीय है। 


इसका उद्​देश्य महामारी के प्रति आमजन को जागरूक करना है। जब भी घर से बाहर जाएं तो मास्क जरूर लगाएं। इस मौके पर परिवर्तन संस्था के प्रतिनिधि के तौर पर सत्यम, लक्ष्मी और वंदना सहित बड़ी संख्या में बच्चों के अभिभावक मौजूद रहे।


बच्चों ने लिखे स्लोगन


बच्चों ने स्लोगन लिखे, जिसमें यह प्रमुख हैं। कोरोना से अब हमको नहीं घबराना है, सामाजिक दूरी व इम्युनिटी को बढ़ाना है। दूरी बनाए रखो, कोरोना को दूर रखो, पापा घर में रहो बाहर कोरोना है, सब मिल साथ रहेंगे किसी को नहीं खोना है।, जन-जन को बताना है, कोरोना को भगाना है।,' और 'मास्क लगाओ, कोरोना को भगाओ। जैसे मन मोहक स्लोगन लिखकर बड़ों को कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करने का संदेश दिया।


Post a Comment

0 Comments